Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बस्तर के जंगलों में पैंगोलिन पर तस्करों की नजर, 2 तस्कर गिरफ्तार

जिला मुख्यालय कोंडागांव के जंगलों में पाए जाने वाले स्तनपायी जानवर पैंगोलिन पर तस्करों का खतरा मंडरा रहा है. दुर्लभ प्रजाति में शामिल पेंगुलिन की तस्करी का मामला सामने आया है. यह बात तब सामने आयी जब रविवार को एक जिंदा पैंगोलिन के साथ कोंडागांव के एक गांव से दो तस्करों को गिरफ्तार किया गया.

बस्तर के जंगलों में पैंगोलिन पर तस्करों की नजर, 2 तस्कर गिरफ्तार

कोंडागांव. जिला मुख्यालय कोंडागांव के जंगलों में पाए जाने वाले स्तनपायी जानवर पैंगोलिन पर तस्करों का खतरा मंडरा रहा है. दुर्लभ प्रजाति में शामिल पेंगुलिन की तस्करी का मामला सामने आया है. यह बात तब सामने आयी जब रविवार को एक जिंदा पैंगोलिन के साथ कोंडागांव के एक गांव से दो तस्करों को गिरफ्तार किया गया.

उनके पास से एक मोटरसाइकिल भी बरामद की गई. दोनों तस्कर बेनूर थाना के रहने वाले हैं. साफ है कि तस्करों का नेटवर्क पैंगोलिन की तस्करी को लेकर कोंडागांव क्षेत्र में सक्रिय हो रहा है. जिसके चलते दुर्लभ वन्य जीवों के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है.

सिटी कोतवाली प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया कि रविवार को मुखबिर द्वारा सूचना मिलने पर पेंगुलिन वन्य प्राणी की तस्करी करते दो आरोपियों को ग्रिफ्तार किया गया है. तस्कर पेंगुलिन को राजधानी रायपुर ले जाने के फिराक में लगे हुए थे जिन्हें पुलिस ने ग्रिफ्तार कर वन्य जीव को सुरक्षित बरामद कर लिया.

वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत पेंगुलिन को शेडयूल ( ए) श्रेणी में रखा गया है. जिसके शिकार पर प्रतिबंध है. नियमों के तहत शिकारी को सात साल तक के कठोर कारावास का प्रावधान है.



Next Story
Top