logo
Breaking

स्मार्ट सिटी के मल्टीलेवल पार्किंग में हर चार घंटे में बढ़ जाएगा किराया

मल्टीलेवल पार्किंग में चारपहिया वाहन की पार्किंग दो से तीन गुना महंगी पड़ेगी। पहले दिन भर की पार्किंग के एवज में केवल 20 रुपए पार्किंग शुल्क लिया जाता था, एक सितंबर से नई व्यवस्था लागू होने पर हर चार घंटे में 20 रुपए पार्किंग शुल्क देने तैयार हो जाइए।

स्मार्ट सिटी के मल्टीलेवल पार्किंग में हर चार घंटे में बढ़ जाएगा किराया

मल्टीलेवल पार्किंग में चारपहिया वाहन की पार्किंग दो से तीन गुना महंगी पड़ेगी। पहले दिन भर की पार्किंग के एवज में केवल 20 रुपए पार्किंग शुल्क लिया जाता था, एक सितंबर से नई व्यवस्था लागू होने पर हर चार घंटे में 20 रुपए पार्किंग शुल्क देने तैयार हो जाइए।

यानि 12 घंटे की पार्किंग में 60 रुपए पार्किंग शुल्क लिया जाएगा। हर चार घंटे में ठेका कंपनी का मीटर दौड़ेगा। उसी तरह दोपहिया में पार्किंग शुल्क दस रुपए 12 घंटे के हिसाब से तय है। आधे घंटे के लिए बाइक पार्क करते हैं तो दस रुपए पार्किंग शुल्क देना पड़ेगा।

स्मार्ट सिटी में आम जनता की जेब ढीली का करने का इंतजाम स्मार्ट पार्किंग के नाम पर एक सितंबर से शुरू हो गया है। पहली बार पीपीपी मोड पर बेंगलुरु की सेंट्रल पार्किंग सर्विसेस कंपनी को शहर के 30 अलग-अलग लोकेशन पर स्मार्ट पार्किंग के लिए इसका ठेका दिया है। इसकी शुरूआत पुराना बस स्टेंड स्थित मल्टीलेवल पार्किंग से हुई है,
आने वाले दिनों में गांधी मैदान, तेलीबांधा, कटोरातालाब, जवाहरबाजार पार्किंग, शास्त्री बाजार, मोतीबाग चौक, गांधी नेहरू उद्यान, अनुपम गार्डन, कलेक्टोरेट परिसर के आक्सीजोन कैम्पस में प्रस्तावित मल्टीलेवल पार्किंग में इसी कंपनी द्वारा स्मार्ट पार्किंग के लिए बढ़े हुए दर पर पार्किंग शुल्क वसूला जाएगा।

प्रतिदिन 200 से 250 गाड़ियों की पार्किंग

सूत्रों के मुताबिक मल्टीलेवल पार्किंग में रोजाना 200 से 250 गाड़ियों की पार्किंग इस समय हो रही है। जबकि व्यवस्था के हिसाब से 350 कार पार्किंग रोज होनी चाहिए। जबकि दोपहिया वाहनों का आंकड़ा सैकड़ा पार नहीं कर पाया है।

बढ़े हुए शुल्क पर चेंबर को एतराज

छत्तीसगढ़ चेंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज ने नई ठेका कंपनी द्वारा स्मार्ट पार्किंग के नाम पर पार्किंग शुल्क को दोगुना करने पर एतराज जताया है। उनका कहना है, बंजारी रोड, बाम्बे मार्केट, मालवीय रोड, एमजी रोड सहित आसपास के व्यापारियों को अपने संस्थान में रोज अपने निजी वाहनों से आना जाना होता है।
पूर्व में 20 रुपए दिन भर का पार्किंग शुल्क लगता था, अब हर चार घंटे में शुल्क बढ़ाकर लिया जाएगा, यह सरासर गलत है। व्यापारी वर्ग के लिए चाैपहिया बाबत 500 रुपए मासिक शुल्क के साथ पास बनाया जाए, इसी तरह दोपहिया गाड़ी पार्क करने पर 200 रुपए शुल्क लेकर मंथली पास बनाकर दिया जाए। लालचंद गुलवानी ने बताया, व्यापारियों ने महापौर प्रमोद दुबे को ज्ञापन सौंपकर इस संबंध में अवगत करा दिया है।

मंथली पास एप्रूवल नहीं

ठेका कंपनी के प्रोजेक्ट हेड श्री सरावनन ने बताया, स्मार्ट सिटी से अभी मंथली पास एप्रूव नहीं हुए, इसलिए निर्धारित दर पर ही पार्किंग शुल्क ले रहे हैं। पूर्व की व्यवस्था मैनुअल थी, अब गाड़ी पार्क करने पर सीधे कम्प्यूटर से पहले परची कटेगी, इसके लिए ड्राइवर पहले बटन दबाएगा, वहां गाड़ी नंबर के साथ टिकिट मिलेगा, फिर गाड़ी एंट्री देंगे।
पार्किंग शुल्क का भुगतान शहरवासी क्रेडिट कार्ड, मोर रायपुर कार्ड से भी आनलाइन कर सकते हैं। रोज पार्किंग में कितनी गाड़ियां आई, कितना रेवेन्यू कलेक्ट हुआ, इसका सारा डेटा कमांड सेंटर को जाएगा।

रियायती दर पर बनाएंगे मंथली पास

महापौर प्रमोद दुबे ने बताया कि चेंबर के प्रतिनिधियों की आपत्ति के बाद व्यापारियों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए मल्टीलेवल पार्किंग में नियमित रूप से गाड़ियों की पार्किंग हो, इसके लिए व्यापारियों को रियायती दर पर मंथली पास बनाकर देंगे।
Share it
Top