logo
Breaking

सीबीएसई परीक्षाओं में दिव्यांग छात्रों को मिलेगी विशेष छूट, बनेंगे पृथक परीक्षा केंद्र

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) परीक्षाओं में दिव्यांग छात्रों को विशेष छूट देने की तैयारी में है। इस बार 10वीं और 12वीं कक्षा में अध्ययनरत दिव्यांग छात्रों के लिए अलग से परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे।

सीबीएसई परीक्षाओं में दिव्यांग छात्रों को मिलेगी विशेष छूट, बनेंगे पृथक परीक्षा केंद्र

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) परीक्षाओं में दिव्यांग छात्रों को विशेष छूट देने की तैयारी में है। इस बार 10वीं और 12वीं कक्षा में अध्ययनरत दिव्यांग छात्रों के लिए अलग से परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे।

दिव्यांग छात्रों को किसी तरह की कोई असुविधा ना हो और उन्हें परीक्षा में बेहतर करने का अवसर मिल सके, इसलिए यह फैसला लिया गया है। पृथक परीक्षा केंद्र बनाए जाने के साथ ही यदि दिव्यांग छात्र चाहें तो उनके लिए रीडर या लेखक की व्यवस्था भी की जा सकती है।

रीडर या लेखक की योग्यता परीक्षार्थियों की योग्यता से अधिक नहीं होगी। दिव्यांग छात्रों को अपने लेखक या रीडर से परीक्षा से दो दिन पहले मिलने की भी छूट मिलेगी। सीबीएसई ने सभी स्कूलों को इस संदर्भ में सर्कुलर जारी कर इस आदेश का पालन करने के लिए कहा है। यदि सेंटर में दिव्यांग परीक्षार्थियों की संख्या अधिक नहीं है, तो उनके लिए सामान्य परीक्षार्थियों के साथ ही केंद्र बनाए जाएंगे। हालांकि इन छात्रों के लिए केंद्र में विशेष सुविधा की जाएगी।
दृष्टिबाधित स्कूलों के पर्यवेक्षक
दिव्यांग छात्रों को अतिरिक्त समय भी दिया जाएगा। जिन केंद्र में दिव्यांग छात्रों के लिए केंद्र बनाए जाएंगे, वहां पर्यवेक्षक के रूप में दृष्टिबाधित स्कूल के शिक्षक ही नियुक्त होंगे। ऐसा करने के पीछे कारण यह है कि पर्यवेक्षक छात्रों की समस्या आसानी से समझ सके।
सीबीएसई के निर्देशानुसार स्कूलों को ऐसे छात्रों की उत्तर पुस्तिका अलग से बोर्ड के पास भेजनी होगी। दिव्यांग छात्रों को विशेषतौर पर कंप्यूटर भी उपलब्ध कराए जाने की तैयारी है। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण के लिए सीबीएसई ने अपनी तैयारी शुरु कर दी है। दिव्यांग छात्रों की संख्या और अन्य आधार पर केंद्र निर्धारण किए जाएंगे।
प्रमाण पत्र आवश्यक
सीबीएसई द्वारा दिव्यांग छात्रों को दी जा रही विशेष सुविधाओं का लाभ केवल उन्हीं छात्रों को मिल सकेगा, जिनके पास दिव्यांगता का प्रमाण पत्र हो। छात्रों को इन सुविधा के लिए सीबीएसई द्वारा निर्धारित मापदंडों को पूरा करना होगा। स्कूलों को अपने संस्थान में अध्ययनरत दिव्यांग छात्रों की जानकारी सीबीएसई को भेजनी होगी। किसी तरह की दिक्कत होने पर छात्र सीबीएसई के हेल्पलाइन नंबर में संपर्क कर सकेंगे।
Share it
Top