Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

50 करोड़ क्रिप्टो करेंसी केस में फरार इनामी छावड़ा की संपत्ति हो सकती है कुर्क, STF कोर्ट में लगाएगी आवेदन

स्पेशल टास्क फोर्स थाना द्वारा वर्ष 2018 में दर्ज किए 50 करोड़ रुपए ठगी के क्रिप्टो करेंसी केस में फरार चल रहे 10 हजार रुपए के इनामी आरोपी रुपिंदर पाल सिंह छावड़ा की तलाश में तेजी आई है।

50 करोड़ क्रिप्टो करेंसी केस में फरार इनामी छावड़ा की संपत्ति हो सकती है कुर्क, STF कोर्ट में लगाएगी आवेदन

भोपाल। स्पेशल टास्क फोर्स थाना द्वारा वर्ष 2018 में दर्ज किए 50 करोड़ रुपए ठगी के क्रिप्टो करेंसी केस में फरार चल रहे 10 हजार रुपए के इनामी आरोपी रुपिंदर पाल सिंह छावड़ा की तलाश में तेजी आई है। अगर जल्द ही छावड़ा नहीं मिलता है तो एसटीएफ उसकी संपत्ति कुर्की के लिए कोर्ट में आवेदन देगी। क्योंकि छावड़ा की तलाश के लिए हाथ.पैर मार रही है। एसटीएफ जाल बिछा रही है कि फरार आरोपी छावड़ा उसकी गिरफ्त में आ जाए।

यहां बता दें कि पिछले दिनों एसटीएफ के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा ने इस केस में फरार आरोपी रूपेश रायए निवासी सी.7 सेक्टर 7 रॉ हाउस नवी मुंबई महाराष्ट्रए जो वर्ष 2018 से फरार थाए सहित इसी केस नंबर 20.2018 में फरार रुपिंदर पाल सिंह छावड़ा निवासी गुप्तेश्वर मदन महल जबलपुर पर 10.10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। इसके अलावा एसटीएफ ने इन दोनों की गिरफ्तारी के प्रयास तेज किए थे। जिसके चलते रूपेश ने तो कोर्ट में सरेंडर किया। जबकि छावड़ा अभी भी फरार चल रहा है।

छावड़ा की तलाश जबलपुर तक

आरोपी छावड़ा की तलाश एसटीएफ की टीमें जबलपुर तक कर रही हैं। एसटीएफ के आधिकारिक सूत्रों की पुष्टि है कि छावड़ा के जबलपुर स्थित गुप्तेश्वर मदन महल इलाके के मकान पर तो उसकी तलाश हुई ही हैए वहां के उसके कुछ खास ठिकानों पर भी उसे तलाशा जा रहा है।

दबाव तेज होते ही आरोपी कर सकता है सरेंडर

जिस तरह से इस केस के एक आरोपी 10 हजार के इनामी रहे रूपेश पर एसटीएफ ने दबाव बनाया तो उसने कोर्ट में सरेंडर कियाए उसी प्रकार छावड़ा भी दबाव बढ़ने पर सरेंडर कर सकता है।

क्या कहते हैं एसटीएफ एसपी

क्रिप्टो करेंसी के 50 करोड़ रुपए की ठगी के वर्ष 2018 के केस में फरार आरोपी 10 हजार रुपए के इनामी रुपिंदर पाल सिंह छावड़ा की तलाश में टीमें जबलपुर समेत अन्य क्षेत्रों में काम कर रही हैं। उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। अगर वह नहीं मिलता है तो उसकी संपत्ति कुर्की के लिए आवेदन कोर्ट में देंगे। - राजेश सिंह भदौरिया, एसपी एसटीएफ भोपाल

Next Story
Share it
Top