Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्वयंसेवक की हत्या पर RSS ने की कड़ी निंदा, केंद्र सरकार और राज्य सरकार से दोषियों पर कार्रवाई की मांग

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कांकेर में अपने कार्यकर्ता की हत्या की निंदा की है। संघ ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार से मांग मामले में जांच की मांग की है। संघ ने कहा है कि इस मामले की गहन जांच होनी चाहिए और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

स्वयंसेवक की हत्या पर RSS ने की कड़ी निंदा, केंद्र सरकार और राज्य सरकार से दोषियों पर कार्रवाई की मांग

कांकेर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कांकेर में अपने कार्यकर्ता की हत्या की निंदा की है। संघ ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार से मांग मामले में जांच की मांग की है। संघ ने कहा है कि इस मामले की गहन जांच होनी चाहिए और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। आपको बता दें कि काँकेर में नक्सलियों ने मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकर्ता की हत्या कर दी। 40 वर्षीय संघ कार्यकर्ता दादू राम कोरटिया को नक्सलियों ने पहले तो आवाज़ देकर घर से बाहर निकाला और फिर गोली मार कर हत्या कर दी। बता दें कि इसके पहले नक्सलियों ने दंतेवाड़ा से बीजेपी के विधायक भीमा मंडावी की भी हत्या कर दी थी।


बताया जाता है कि दादू मैकेनिकल इंजीनियर थे। वे सम्भलपुर के सरपंच भी रहे। वे धार्मिक विचार वाले व्यक्ति थे और इलाक़े में उन्होंने कई मंदिर भी बनवाए हैं। जानकारी के मुताबिक, सालभर पहले भी कटोरिया की हत्या का प्रयास हुआ था, हालांकि तब वे बच गए थे।

तीन गिरफ्तार - आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है। बताया जा रहा है कि ये तीनों ही आरोपी नक्सल गतिविधियों में शामिल रहे हैं। इन लोगों ने आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या में प्लानिंग की थी। इन्होंने पूछताछ में दादूसिंह की हत्या में शामिल होना कबूल किया है।


धारा 370 हटाने का विरोध - नक्सलियों ने पोस्टर - बैनर जारी कर आर्टिकल 370 हटाने का विरोध किया है। नक्सलियों ने इसको लेकर बीजेपी और संघ पर निशाना साधा। नक्सलियों का कहना है कि बीजेपी ने तानाशाही और हिटलरशाही व्यवहार करते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 को रद्द किया गया। इसको लेकर नक्सलियों ने शुक्रवार को भारत बंद भी बुलाया है। साथ ही नक्सलियों ने पर्चे में भाजपा और आरएसएस को दलित और आदिवासी विरोधी बताया है।




Next Story
Share it
Top