Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कलेक्टर का फरमान : रात 8 बजे तक बंद हो जाएं सभी दुकान, रोज थाना पहुंचेंगे कोटवार

वर्तमान हालात में पुलिस को और अधिक संवेदनशील होने की जरूरत

कलेक्टर का फरमान : रात 8 बजे तक बंद हो जाएं सभी दुकान, रोज थाना पहुंचेंगे कोटवार

राजनांदगांव। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य और पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए एसडीएम तथा एसडीओपी से चर्चा कर कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने वीडियो कांफ्रेसिंग में कहा कि अयोध्या राम जन्म भूमि मामले के फैसले के संदर्भ में शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए अगले 7 दिनों तक ऐहतियात बरतने की सख्त जरूरत है। श्री मौर्य ने कहा कि सभी राजस्व अनुविभागीय मुख्यालयों में शांति समिति की बैठक आयोजित की जाए। इस बैठक में विभिन्न पार्टियों, धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाए। उन्होंने कहा कि शांति समिति की बैठक में व्यापारिक प्रतिनिधियों को बता दिया जाए कि अभी कुछ दिनों तक रात में दुकानें 8 बजे तक बंद हो जाए। श्री मौर्य ने स्पष्ट रूप से कहा कि आज से 7 दिन तक एसडीएम की अनुमति के बिना कही पर भी कोई सभा या जुलूस नहीं होगा। किसी भी प्रकार की व्यापारिक, राजनैतिक, सामाजिक, प्रशासनिक सभा के लिए अनुमति नहीं दी जानी है। श्री मौर्य ने कहा कि मंदिरों, मस्जिदों और सार्वजनिक भवनों में कड़ी निगाह रखने की जरूरत है।

श्री मौर्य ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई सार्वजनिक चर्चा नहीं हो सकती। इस संबंध में सहमति या असहमति के लिए केवल सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू याचिका हो सकती है। श्री मौर्य ने मीडिया सहित अन्य वाट्सअप ग्रुप पर भी नजर रखने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि अभी एडमिन ही ग्रुप में पोस्ट कर सकते हैं। श्री मौर्य ने कहा कि 10 नवम्बर को मुस्लिम समाज के ईद-मिलाद-उन नबी त्यौहार पर सुरक्षा के साथ-साथ अन्य जरूरी व्यवस्थाएं ज्यादा करने की जरूरत है। मस्जिदों में साफ-सफाई और पेयजल आदि के पर्याप्त प्रबंध किए जाए। त्यौहार के जुलूस के साथ पुलिस और प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी नियमित रूप से उपस्थित रहेंगे।

श्री मौर्य ने कहा कि रात को पुलिस पेट्रोलिंग और चेकिंग बढ़ाई जाए। रात में लोग अनावश्यक रूप से घूमते न दिखे। श्री मौर्य ने कहा कि प्रशासन और पुलिस की निगाह ग्रामीण क्षेत्रों में भी समान रूप से बनी रहनी चाहिए। विशेष रूप से कोटवारों और ग्राम पंचायत सचिवों को सूचना देकर सतर्क कर दिया जाए। कहीं पर भी किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि दिखाई दे तो इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन तक तत्काल पहुंचाई जाए। श्री मौर्य ने कहा कि इस अवधि में कोटवार हर दिन थाने में आकर अपने क्षेत्रों के बारे में सूचना देंगे। कलेक्टर ने कहा कि जिले में शराब दुकानें आज बंद हैं। आवश्यकता होने पर कल 10 नवम्बर को भी बंद की जा सकती है। इस दौरान अवैध शराब की बिक्री पर बेहद सख्ती बरतने की जरूरत है। ढाबों पर नियमित जांच होनी चाहिए।

पुलिस अधीक्षक श्री बीएस ध्रुव ने कहा कि पुलिस महकमा प्रशासन का अंग है। प्रशासन के साथ बेहतर तालमेल और समन्वय के साथ शांति व्यवस्था बनाए रखना तथा आम लोगों को सुरक्षा देना हमारा दायित्व है। वर्तमान हालात में पुलिस को और अधिक संवेदनशील होने की जरूरत है। श्री ध्रुव ने कहा कि ऐसे अवसरों पर हमारे अच्छे व्यवहार और आचरण ज्यादा कारगर साबित होते हैं। विजय जुलूस, रैली जैसे आयोजनों पर प्रतिबंध रहेगा। 10 नवम्बर को मुस्लिम समाज के त्यौहार पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात किया जाए।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर ओंकार यदु, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यूबीएस चौहान, एसएन बघेल, सुरेशा चौबे, एसडीएम राजनांदगांव मुकेश रावटे, नगर निगम राजनांदगांव के आयुक्त चंद्रकांत कौशिक, एसडीओपी ट्रेफिक गजेन्द्र सिंह ठाकुर, सीएसपी श्याम सुन्दर शर्मा उपस्थित थे।

Next Story
Share it
Top