Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रायगढ़ एसपी आइसोलेट होकर ड्यूटी पर मुस्तैद, पेश की मिसाल

पुलिस अधीक्षक बोले- मुश्किल ही सही पर यह हमारी पहली जिम्मेदारी है लोगो की सेवा करना। पढ़िए पूरी खबर-

रायगढ़ एसपी आइसोलेट होकर ड्यूटी पर मुस्तैद, पेश की मिसाल
X

रायगढ़। देश और दुनिया में कोरोनावायरस से संक्रमण के आंकड़े दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं किंतु लोग इसे अब भी गंभीरता से नहीं ले रहे और अपने साथ-साथ अपने परिवारजनों तथा आम लोगों की जान जोखिम में डालने का काम कर रहे हैं। रायगढ़ पुलिस अधीक्षक जिनके कंधों पर लोगों की सुरक्षा व कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी है वे अपने ड्यूटी पूरी तरह से निभाते हुए अपने घर में छोटे बच्चों और उम्र दराज सास ससुर है का भी ख्याल करते हुए खुद को घर के बाहर एक कमरे में होम आइसोलेट किए हुए हैं और आज हर किसी के लिए एक मिसाल पेश कर रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक रायगढ़ संतोष सिंह द्वारा प्रतिदिन कुछ सुरक्षा संबंधी मीटिंग, प्रशासन के साथ राहत कार्यों व लॉक डाउन के उपायों की समीक्षा, रोजमर्रा के कार्य व अन्य विभागों से तालमेल बिठाने के साथ साथ लगातार फील्ड पुलिस अधीक्षक बोले- मुश्किल ही सही पर यह हमारी पहली जिम्मेदारी है लोगो की सेवा करना। पढ़िए पूरी खबर-में दौरा कर रहे हैं ताकि पेट्रोलिंग, नाके और अन्य ड्यूटी में लगातार लगे सभी पुलिसकर्मियों को मोटीवेट कर सकें। वो रोड पर स्वयं सख्ती के लिए भी उतरते हैं और लोगों से अपील भी कर रहे हैं कि लोग घरों में रहे पुलिसकर्मी उनके लिए बाहर हैं।

उन्होंने बताया कि कुछ दिनों पहले बुजुर्ग सास-ससुर बनारस (उ.प्र.) से रायगढ़ आए थे जो लॉकडाउन के दौरान उत्तरप्रदेश नहीं जा सके और यहीं रुके हुए हैं। सास ससुर के साथ घर में दो छोटे बच्चे भी हैं। उनका छोटा बेटा जो सिर्फ एक साल का है, अपने पापा के देर रात घर मे ड्यूटी से आते ही दूर से देखकर दौड़ कर पास आने के जिद करता है लेकिन वो उससे बचते हुए घर के बाहरी हिस्से के कमरे में चले जाते हैं।

पुलिस अफसर फील्ड में रहते हैं, इन दिनों घर में सावधानी न बरती जाए तो परिवारजन पर संक्रमण का खतरा है इसलिए उनके सेहत की परवाह करते हुए पुलिस अधीक्षक ने अपने आवास के एक कमरे में खुद को आइसोलेट किए हुए हैं। वो मानते हैं की पब्लिक ड्यूटी सबसे ऊपर हैं, अगर वो संक्रमित हो भी तो परिवार को उनसे संक्रमण न हो।

आईपीएस अधिकारी ने बताया कि यह समय फील्ड के प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिसवालों व स्वास्थ्यकर्मियों आदि के लिए काफी मुश्किल भरा है। परंतु समाज की सुरक्षा के साथ-साथ परिवार की सुरक्षा हर किसी की पहली जिम्मेदारी है। पुलिसकर्मियों को ऑफिस, थाना से जाने के बाद परिवार वालों से दूरी बनाकर खुद को होम आइसोलेट करने का प्रयास करें, मुश्किल है पर होगा। उनका कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग में जरा भी लापरवाही ना बरतें और सभी लोगों से इसका पालन करना हमारी ड्यूटी है।

Next Story