logo
Breaking

PCC चीफ भूपेश ने CM रमन सिंह पर कसा तंज, मुख्यमंत्री जी छक्का मारने की बात करते हैं अपनी उम्र तो देख लें

सबको बेसब्री से 11 तारीख का इंतजार है। विधानसभा चुनाव मतदान खत्म होने के बाद से लगातार हम निर्वाचन आयोग में शिकायतें करते आए हैं और सभी महत्वपूर्ण थी लेकिन उन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

PCC चीफ भूपेश ने CM रमन सिंह पर कसा तंज, मुख्यमंत्री जी छक्का मारने की बात करते हैं अपनी उम्र तो देख लें
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के नतीजों को लेकर सबको बेसब्री से 11 दिसंबर 2018 का इंतजार है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मतदान खत्म होने के बाद से लगातार हम निर्वाचन आयोग में शिकायतें करते आए हैं और सभी महत्वपूर्ण थी लेकिन उन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। अभी तक हमें मतदान केंद्र से सूची नहीं मिली है। उक्त बातें पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने आज पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहीं।
इस दौरान उन्होंने कहा कि जहां ईवीएम मशीनों को रखा गया है वहीं उनके साथ एक्स्ट्रा मशीनों को भी रखा गया है। इससे मतगणना केंद्र में ईवीएम मशीनों को ले जाते समय बदलने की संभावना है। भूपेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में सूचना अधिकारियों द्वारा बताए जा रहे आंकड़े और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा बताए जा रहे आंकड़े काफी अलग-अलग हैं। इन आंकड़ों में करीब 47 हजार का अंतर है।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के छक्का मारने के बयान पर भूपेश ने कहा मुख्यमंत्री जी छक्का मारने की बात कर रहे हैं। हालांकि अब उनकी उम्र नहीं है छक्का मारने की। लगता है बहुमत और 65 सीटों की बात वह भूल गए हैं।
पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा भाजपा को लोकतंत्र में विश्वास नहीं है तभी तो वह लगातार साजिशें रच रही है। भाजपा को सिर्फ सत्ता चाहिए और इसके लिए वह कुछ भी कर सकती है।
पत्रकारों के समक्ष अपनी बात रखते हुए पीसीसी चीफ ने कहा, कल दुर्ग में सीसीटीवी कैमरे कुछ​ देर के लिए बंद हुए थे। यह क्यों बंद हुए इसका जवाब प्रशासन अधिकारी नहीं दे पा रहे हैं।
भूपेश ने कहा मतदान केंद्र में जो एजेंट है उनके द्वारा जो मतदान पत्र मिला है वही हमारे पास है अभी तक निर्वाचन आयोग से हमें कोई सूची नही मिली है। ​जो भी जानकारी मिल रही वह मीडिया के माध्यम से मिल रही है।
बेमेतरा में कल बीएसएफ के जवान द्वारा स्ट्रांग रूम में लैपटॉप का उपयोग करने पर सवाल उठाते हुए भूपेश ने कहा आखिर उसे गिरफ्तार क्यों नहीं किया जा रहा। लगातार ईवीएम के संबंध में घटनाएं हो रही हैं। हम लोगों द्वारा इतनी निगरानी करने बाद यह स्थिति है तो निगरानी नहीं करने पर क्या स्थिति होती।
Share it
Top