Top

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 250 रुपए में बनाते थे फर्जी कार्ड, CEO ने किया पुलिस के हवाले

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 6 2017 9:22PM IST
प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 250 रुपए में बनाते थे फर्जी कार्ड, CEO ने किया पुलिस के हवाले

भारत सरकार की फर्जी स्कीम बताकर आम लोगों से राशि वसूलने वाली एक संस्था का पर्दाफाश हुआ है। संस्था से जुड़े 6 लोगों को जिला पंचायत सीईओ नीलेश कुमार क्षीरसागर ने पहचान कर पुलिस को सौंपा है। 

हालांकि ये सभी प्रतिनिधि थे। उनसे काम लेने वाले मुख्य लोगों के बारे में आरंग पुलिस आगे कार्रवाई करेगी।

आरंग ब्लॉक के कुछ गांवों से यह शिकायत मिली थी प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए कार्ड बनवाने के नाम पर एक संस्था 250 रुपए ले रही है। 

इसे भी पढ़ें- हरिभूमि के प्रधान संपादक डा. हिमांशु को पं. माधवराव सप्रे राष्ट्रीय सम्मान

स्थानीय स्तर पर कुछ लोग उस संस्था का प्रतिनिधि बनकर काम कर रहे हैं। इसके एवज में उन्हें प्रत्येक कार्ड के पीछे 50 रुपए कमीशन मिल रहा है, जबकि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने इस प्रकार का कोई आदेश जारी नहीं किया है। 

इसकी शिकायत मिलने पर जिपं सीईओ ने आरंग ब्लॉक के सीईओ मेहरूल माहेश्वरी को ऐसे लोगों का पता लगाने की बात कही। 

इस दौरान लोकेश धीवर ग्राम कुरुद, मंदिरहसौद, मंशा ध्रुव, धरमपुरा सेंध, लक्ष्मीनारायण साहू तुलसी आरंग, थानेश्वरी देवांगन मालीडही, गणेशराम धीवर कोरासी आरंग और जितेंद्र साहू सोंठ परसदा सोंठ अभनपुर पकड़ में आए।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
panchayat ceo exposed fake govt officials in chhattisgarh

-Tags:#Prime Minister Housing Scheme#Fake Company#Panchayat CEO

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo