Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लेनी थी सिलेबस की परीक्षा थमा दिया पुराना पर्चा, परीक्षा निरस्त

एमए इंग्लिश की तृतीय सेमेस्टर के अंतर्गत क्रिटिकल थ्योरी की परीक्षा निरस्त कर दी गई है। ऐसा रविवि की लापरवाही के कारण हुआ है। दरअसल इस वर्ष तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं नए सिलेबस से ली जानी थीं, लेकिन रविवि ने पुराने सिलेबस पर आधारित पर्चा ही छात्रों को थमा दिया।

लेनी थी सिलेबस की परीक्षा थमा दिया पुराना पर्चा, परीक्षा निरस्त
X
एमए इंग्लिश की तृतीय सेमेस्टर के अंतर्गत क्रिटिकल थ्योरी की परीक्षा निरस्त कर दी गई है। ऐसा रविवि की लापरवाही के कारण हुआ है। दरअसल इस वर्ष तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं नए सिलेबस से ली जानी थीं, लेकिन रविवि ने पुराने सिलेबस पर आधारित पर्चा ही छात्रों को थमा दिया।
28 दिसंबर को यह परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा हॉल में बैठे छात्रों को पहले तो लगा कि उन्हें गलत प्रश्नपत्र थमा दिया गया है, लेकिन बाद में छात्रों को पता चला कि उन्हें पुराने सिलेबस पर आधारित प्रश्नपत्र दे दिया गया है।
छात्रों ने इसका विरोध करते हुए अधिकारियों से इसकी शिकायत की। एमए इंग्लिश के लगभग 300 छात्र इससे प्रभावित होंगे। छात्रों को दोबारा परीक्षा की तैयारी करनी होगी। वहीं पूरे मामले को रविवि ने मानवीय भूल करार दिया है। प्रबंधन का कहना है कि सेटर द्वारा भूलवश पुराने सिलेबस पर प्रश्नपत्र तैयार कर दिया गया। कक्षा में जब प्रश्नपत्र खोला गया, तब इसकी जानकारी हुई।

तिथि तय नहीं

इस विषय की परीक्षा दोबारा कब होगी, यह निर्धारित नहीं किया गया है। रविवि द्वारा केवल पर्चा रद्द किए जाने की सूचना जारी की गई है। रविवि का कहना है कि अन्य परीक्षाओं की तारीखों को देखते हुए शीघ्र ही परीक्षा की तिथि दोबारा जारी कर दी जाएगी।

पहले से ही परीक्षा कार्य में पिछड़ चुके रविवि द्वारा इसकी परीक्षा दोबारा आयोजित कराए जाने का असर नतीजों पर भी पड़ेगा। परीक्षा सेटर पर कोई कार्रवाई की जाएगी अथवा नहीं, इस संदर्भ में रविवि द्वारा कोई जानकारी नहीं दी गई है।

सेंटर की गलती

प्रश्नपत्र सेटर द्वारा गलती हुई है। नए सिलेबस के स्थान पर पुराने सिलेबस से प्रश्नपत्र तैयार कर दिया गया। पुन: परीक्षा आयोजित की जाएगी।
- सुपर्ण सेन गुप्ता, मीडिया प्रभारी, रविवि

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story