Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NMDC ने लौहअयस्क की कीमतें घटाई, छत्तीसगढ़ भी प्रमुख ग्राहकों में शुमार

NMDC के सीएमडी एन. बैजेंद्र कुमार ने संकट के वर्तमान समय में लिए गए इस कदम की सराहना की है। पढ़िए पूरी खबर-

NMDC ने लौहअयस्क की कीमतें घटाई, छत्तीसगढ़ भी प्रमुख ग्राहकों में शुमार
X

रायपुर। नवरत्न कंपनी एनएमडीसी ने 9 मई को लौह अयस्क की कीमतें 400 रुपए प्रति टन तक घटा दी हैं तथा तथा डीआरसीएलओ की कीमतों में भी 470 रुपए प्रति टन की कमी की है। एनएमडीसी ने पहले भी 4 अप्रैल को लौह अयस्क की कीमतें 500 रुपए प्रति टन तक घटाई थीं तथा डीआरसीएलओ उत्पाद की कीमतों में भी 580 रुपये प्रति टन की कमी की थी। इस प्रकार एक माह की अवधि में एनएमडीसी ने लौह अयस्क की कीमतें 900 रुपए प्रति टन तथा डीआरसीएलओ की कीमतें 1050 रुपए प्रति टन कम की है। डीआरसीएलओ के प्रमुख ग्राहक छतीसगढ़ की कंपनियां हैं।

लौह अयस्क की कीमतों में कमी से इस्पात कंपनियों, विशेष रूप से छत्तीसगढ़ की स्पॉन्ज ऑयरन आधारित इस्पात कंपनियों को बड़ी राहत मिली है। एनएमडीसी ने कीमतों के निर्धारण में इस्पात एवं लौह अयस्क के मौजूदा बाजार की परिस्थितियों पर विचार करते हुए एक सुविचारित निर्णय लिया है।

उल्लेखनीय है कि कोरोना का संक्रमण फैलने के बाद देशभर में इस्पात उद्योगों पर इसका व्यापक प्रभाव पड़ा था। तैयार माल के प्रयोगकर्ताओं की घटती हुई मांग के कारण सभी प्रमुख इस्पात मिलें कम क्षमता के साथ कार्य कर रही हैं। ओएमसी सहित ओडिशा के कुछ व्यापारिक खनिकों ने हाल ही में संपन्न उनकी नीलामी में लौह अयस्क की कीमतों में 500 रुपए प्रति टन की कमी की थी, फिर भी वे अपनी संपूर्ण मात्रा का निपटान नहीं कर सके।

एनएमडीसी के सीएमडी एन. बैजेंद्र कुमार ने बताया कि एनएमडीसी द्वारा कीमतें घटाए जाने से इस्पात कंपनियों को बड़ी राहत मिली है और उन्होंने एनएमडीसी द्वारा संकट के वर्तमान समय में लिए गए इस कदम की सराहना की है।

Next Story