logo
Breaking

छत्तीसगढ़/ नए मंत्रियों को मिलेगी चमचमाती लग्जरी कारें, सरकार ने खरीदी 12 नई गाड़ी

छत्तीसगढ़ में सत्ता बदलने के साथ ही मंत्रियों की गाड़ियां भी बदल जाएंगी। नए मंत्रियों को चमचमाती लग्जरी कारें मिलेंगी। इसके लिए दर्जनभर नई टाटा सफारी कार खरीदी गई हैं। यही नहीं, मुख्यमंत्री के कारकेड में शामिल होने वाली लग्जरी कारों को सजाया जा रहा है।

छत्तीसगढ़/ नए मंत्रियों को मिलेगी चमचमाती लग्जरी कारें, सरकार ने खरीदी 12 नई गाड़ी

छत्तीसगढ़ में सत्ता बदलने के साथ ही मंत्रियों की गाड़ियां भी बदल जाएंगी। नए मंत्रियों को चमचमाती लग्जरी कारें मिलेंगी। इसके लिए दर्जनभर नई टाटा सफारी कार खरीदी गई हैं। यही नहीं, मुख्यमंत्री के कारकेड में शामिल होने वाली लग्जरी कारों को सजाया जा रहा है।

शपथ ग्रहण समारोह खत्म के बाद उन्हें चमचमाती गाड़ियों से निवास पहुंचाया जाएगा। इसके लिए कालीबाड़ी स्टेज गैरेज में टाटा सफारी स्ट्रांग गाड़ियों को सजाया जा रहा है।
वहीं, कुछ पुरानी गाड़ियों की भी नए तरीके से साज-सज्जा की जा रही है। दरअसल, विधानसभा चुनाव में जीत कर विधायक से मंत्री बने राजनेता शपथ ग्रहण में अपनी गाड़ियों से आते हैं।
शपथ ग्रहण करने के बाद उन्हें सरकारी गाड़ियां मुहैया कराई जाती हैं, जहां से वह निजी नहीं, बल्कि सरकारी गाड़ी में निवास के लिए रवाना होते हैं। इसे लेकर स्टेज गैरेज में तैयारी की जा रही है।
मंगाई गईं पुरानी गाड़ियां
जानकारी के मुताबिक भाजपा सरकार के मंत्रियों की दी गई 12 गाड़ियों को स्टेज गैरेज में खड़ा किया गया है, जिनकी नई गाड़ियों की तरह साज-सज्जा की जा रही है। इनमें अधिकतर गाड़ियां 2 से 3 साल पुरानी हैं। उनकी मरम्मत करने के साथ ही कुछ गाड़ियों के नंबर बदलने की भी प्रक्रिया की जा रही है। संभावना है, मंत्री बंगलों पर इन गाड़ियों को भेजा जा जाएगा।
खरीदी गई हैं 12 कारें
अफसरों के मुताबिक इस साल 12 टाटा सफारी गाड़ी खरीदने के प्रस्ताव को बहुत पहले मंजूरी मिल गई थी, लेकिन विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लागू हो गई थी, जिसकी वजह से खरीदी नहीं हो सकी थी।
आचार संहिता खत्म होने के बाद बुधवार को 12 गाड़ियां खरीदने की प्रक्रिया पूरी की गई, जिसके बाद कंपनी ने तत्काल डिलीवरी की। अब इन गाड़ियों का इस्तेमाल कांग्रेस पार्टी की नई सरकार के मंत्री करेंगे।
कारें खरीदी गईं
मंत्रियों के लिए पुराने सेशन की 12 टाटा सफारी स्ट्रांग कारें खरीदी गई हैं। साथ ही पुरानी गाड़ियों की साज-सज्जा की जा रही है।

- अरविंद सिंह, प्रभारी, स्टेट गैरेज
Share it
Top