Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लाल आतंक : नक्सलियों ने फूंक दिए 4 ट्रक, मुठभेड़ में ढेर महिला नक्सली की मौत पर विरोध

2 मई को हुए मुठभेड़ में 2 जवानों की हुई थी मौत, 3 घायल। पढ़िए पूरी खबर-

लाल आतंक : नक्सलियों ने फूंक दिए 4 ट्रक, मुठभेड़ में ढेर महिला नक्सली की मौत पर विरोध
X

कांकेर। खूंखार महिला नक्सली सृजनक्का की मौत का विरोध करते हुए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों ने बंद का ऐलान किया है। नक्सलियों ने 4 ट्रकों को आग के हवाले कर दिया। इस घटना से कॉन्ट्रैक्टर को काफी नुकसान उठाना पड़ा। वहीं ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।

यह घटना गढ़चिरौली जिले की है जहां नक्सलियों ने 3 हाईवा ट्रक, 1 ट्रक में आग लगा दी। नक्सलियों द्वारा फेंके गये पर्चे में उन्होंने मुठभेड़ में उत्तर गढ़चिरौली डिविजन कमेटी सदस्य सृजना (जैनी अर्का) को मारने का विरोध किया है।

बताया जा रहा है कि ये ट्रक गढ़चिरौली के रेत कॉन्ट्रेक्टर की है। इस घटना के वज़ह से कॉन्ट्रेक्टर का लाखों का नुकसान हुआ और ग्रामीण क्षेत्र में दहशत का माहौल है। हाल ही में उए नक्सली मुठभेड़ में 2 जवान शहीद और 3 जवान घायल हुए थे।

भामरागढ़ की क्विक रिस्पॉन्स टीम और गढ़चिरौली पुलिस के सी-60 कमांडो टीम की तरफ से यह संयुक्त एंटी-नक्सल ऑपरेशन चलाया गया था। पोयारकोटी-कोपरशी के जंगलों में यह मुठभेड़ सुबह 6 से 6.30 तक के बीच चली। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सब-इंस्पेक्टर धन्नाजी होनमाणे और कांस्टेबल किशोर आत्माराम की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य कर्मियों को चोटें आई थी।

पुलिस की तरफ से बताया गया है कि इस मुठभेड़ में चार से पांच नक्सली भी मारे गए। घायल पुलिसकर्मियों को पास के अस्पताल ले जाया गया और शवों को हेलीकॉप्टर के जरिए गढ़चिरौली शहर लाया गया। सूत्रों के मुताबिक होनमाणे पंढरपुर के सोलापुर जिले के मूल निवासी थे, जबकि आत्माराम गढ़चिरौली के भामरागढ़ से थे। बता दें कि सी-60 महाराष्ट्र पुलिस की एक विशेष नक्सल विरोधी इकाई है।

Next Story