logo
Breaking

छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान पहले की तरह जारी रहेगाः पुलिस महानिदेशक

छत्तीसगढ़ के नव नियुक्त पुलिस महानिदेशक डी एम अवस्थी ने कहा है कि राज्य में नक्सल विरोधी अभियान पहले की तरह ही पूरी तीव्रता से जारी रहेगा।

छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान पहले की तरह जारी रहेगाः पुलिस महानिदेशक

छत्तीसगढ़ के नव नियुक्त पुलिस महानिदेशक डी एम अवस्थी ने कहा है कि राज्य में नक्सल विरोधी अभियान पहले की तरह ही पूरी तीव्रता से जारी रहेगा।

अवस्थी ने आज अटल नगर स्थित पुलिस मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘राज्य में नक्सलियों को गोली का जवाब
गोली से तो दिया जाएगा लेकिन साथ ही उन्हें मुख्यधारा में शामिल होने के लिए राजी किया जाएगा। अवस्थी नक्सल विरोधी अभियान के भी प्रमुख हैं।'
पुलिस महानिदेशक ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वह पहले भी कहते रहे हैं कि नक्सल समस्या सामाजिक, आर्थिक और विकास से संबंधित समस्या है और
अभियान इसका एक हिस्सा है तथा क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान पहले की तरह ही जारी रहेगा।
जब पुलिस अधिकारी से पूछा गया कि क्या हाल ही में सत्ता परिवर्तन के कारण नक्सल विरोधी अभियान प्रभावित होगा तो उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री ने प्रभावित क्षेत्र के लोगों से बात करने की बात कही है। यह उपयुक्त रणनीति है लेकिन उन्होंने नक्सल विरोधी अभियान को बंद करने के लिए नहीं कहा है। जहां तक अभियान का सवाल है, गोली का जवाब गोली से दिया जाएगा।'
अवस्थी ने कहा कि जब क्षेत्र में अभियान के दौरान बलों पर हमला किया जाएगा, तब बल निश्चित रूप से इसका जवाब देंगे। यदि कोई मुख्यधारा में शामिल होना चाहता है, तो उसका स्वागत है। मई 2013 में हुए झीरम घाटी हमले की एसआईटी जांच के सवाल पर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि उन्होंने एनआईए को एक पत्र लिखकर इस संबंध में की गई जांच की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के 27 जिलों के प्रत्येक पुलिस स्टेशन में "पुलिस मित्र" होंगे जो अपने-अपने क्षेत्रों के लोगों से जुड़ेंगे, जिससे स्थानीय मुद्दों को पुलिस थाना स्तर पर ही हल किया जा सके। इसके अलावा पुलिस महानिदेशक की एक नागरिक सलाहकार परिषद बनाई जाएगी।
Share it
Top