Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NIA से झीरमघाटी कांड जांच की वापस आएगी फाइल, DGP ने भेजा पत्र

झीरम घाटी हमले की एसआईटी गठन की जांच ने रफ्तार पकड़ ली है। अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से केस की इन्वेस्टिगेशन फाइल वापस मंगाने की कवायद शुरू हो गई है।

NIA से झीरमघाटी कांड जांच की वापस आएगी फाइल, DGP ने भेजा पत्र

झीरम घाटी हमले की एसआईटी गठन की जांच ने रफ्तार पकड़ ली है। अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से केस की इन्वेस्टिगेशन फाइल वापस मंगाने की कवायद शुरू हो गई है।

डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा, एनआईए से फाइल मंगाने के लिए पत्र लिखा गया है। केस की डिटेल आने के बाद एसआईटी द्वारा इन्वेस्टिगेशन शुरू किया जाएगा।
उन्होंने कहा, हमले में जितने बिंदुओं पर संदेह है, उसकी एक-एक बारीकियों की जांच की जाएगी। यही नहीं, उन्होंने बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति घोटाले को लेकर एसआईटी गठित करने की बात कही।
दरअसल, बस्तर जिले के दरभा थाना क्षेत्र स्थित झीरम घाटी में 25 मई 2013 को कांग्रेस पार्टी के नेताओं के काफिल पर माओवादियों ने हमला किया था, जिसमें तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष महेंद्र कर्मा और वरिष्ठ नेता विद्याचरण शुक्ल समेत 29 लोगों की मौत हो गई थी।
उस समय तत्कालीन राज्य सरकार ने इसकी जांच एनआईए को दी थी, लेकिन कांग्रेस पार्टी के सत्ता में वापसी अाने के बाद डीजीपी ने 10 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है, जो अब पूरे केस की नए सिरे से जांच करेगी।
जल्द बनेगी एसआईटी
डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा, ईओडब्ल्यू और एंटी करप्शन में आईजी एसआरपी कल्लूरी की नियुक्ति हो गई है। जल्द ही वे ज्वाइन कर लेंगे। इसके बाद नागरिक आपूर्ति निगम के करोड़ों रुपए के घोटाले की नए सिर से जांच करने एसआईटी का गठन किया जाएगा।
इतने एसआईटी में शामिल
डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा, झीरमघाटी हमले की जांच करने बनी एसआईटी के बस्तर रेंज जगदलपुर के पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद प्रभारी हैं।
सुंदरराज पी. पुलिस उपमहानिरीक्षक, एमएल कोटवानी, सेनानी, सुरक्षा वाहिनी रायपुर, गायत्री सिंह, उप-सेनानी, तीसरी वाहिनी अमलेश्वर दुर्ग, राजीव शर्मा, उप-पुलिस अधीक्षक सराईपाली जिला महासमुंद, आशीष शुक्ला, निरीक्षक, जिला रायपुर, प्रेमलाल साहू, निरीक्षक, विशेष आसूचना शाखा, नरेंद्र शर्मा, सेवानिवृत्त उप-पुलिस अधीक्षक बिलासपुर, एनएन चतुर्वेदी, विधि विशेषज्ञ, सेवानिवृत्त उप संचालक अभियोजन तथा एमके वर्मा, विधि विज्ञान विशेषज्ञ, सेवानिवृत्त संचालक एफएसएल सागर सदस्य हैं।
इंस्पेक्टरों का होगा प्रमोशन
डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा, राज्यभर में दशकों से पुलिस की सेवा कर रहे ऐसे इंस्पेक्टर जिनका प्रमोशन नहीं हो सका, उन्हें जल्द प्रमोशन दिया जाएगा। इसके लिए उनकी डिटेल तैयार की जा रही है।
यही नहीं, पुलिसकर्मियों की जो भी अपेक्षाएं हैं, उन्हें पूरा करने की हरसंभव कोशिश की जाएगी।
Next Story
Share it
Top