Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हजारों वोटरों के नाम सूची से गायब, मचा हड़कंप, आधा दर्जन वार्डों से सूची में गड़बड़ी को लेकर शिकायतें

नए परिसीमन के बाद मतदाता सूची में हजारों वोटरों के नाम गायब हो गए हैं। कई वोटर ऐसे भी हैं, जिनके नाम दो वार्डों की वोटर लिस्ट की सूची में दर्ज हो गए हैं।

हजारों वोटरों के नाम सूची से गायब, मचा हड़कंप, आधा दर्जन वार्डों से सूची में गड़बड़ी को लेकर शिकायतें

रायपुर। नए परिसीमन के बाद मतदाता सूची में हजारों वोटरों के नाम गायब हो गए हैं। कई वोटर ऐसे भी हैं, जिनके नाम दो वार्डों की वोटर लिस्ट की सूची में दर्ज हो गए हैं। मतदाता सूची में गड़बड़ी को लेकर जहां नए वोटर खासे परेशान हैं, वहीं बड़ी संख्या में वोटरों के नाम इधर से उधर होने को लेकर वार्ड मेंबर की बेचैनी बढ़ गई है। वे अब सबूत के साथ निर्वाचन आयोग में शिकायत दर्ज कराने की तैयारी में हैं। कुल मिलाकर बीएलओ द्वारा बगैर स्थल निरीक्षण के रिपोर्ट करने में हजारों वोटरों के नाम काट दिए गए। 70 वार्ड से औसतन दस फीसदी मतदाताओं के नाम वोटर लिस्ट से नदारद हैं। जिन मतदाताओं के नाम वोटर लिस्ट में नहीं हैं, उन्हें दावा-आपत्ति के दौरान फिर आवेदन के लिए कहा जा रहा है।

दरअसल, निकाय चुनाव से पहले नई मतदाता सूची में हजारों वोटरों के नाम नहीं होने से खलबली मच गई है। जिन वार्डों में पार्षदों के पास मतदाता सूची नहीं पहुुंची है, वे नेट से सूची निकालकर वोटरों के नाम खंगालकर खामियाें पर नजर रखे हुए हैं। महामाया मंदिर वार्ड के 1700 मतदाता वामनराव लाखे वार्ड से परिसीमन के बाद आए हैं, लेकिन उनके नाम वोटर लिस्ट में महामाया मंदिर वार्ड की सूची में जुड़े नहीं हैं।

इधर से उधर हो गए 2000 वोटर

महात्मा गांधी वार्ड पार्षद जसबीर सिंह ढिल्लन का कहना है, परिसीमन के बाद उनके दो बूथों के 2000 वोटर को गुरु गोविंद सिंह वार्ड में भेज दिए गए, लेकिन नई मतदाता सूची में इन वोटरों के नाम वापस उन्हीं के वार्ड में जुड़कर आ गए, जबकि ये नाम गुरु गोविंद सिंह वार्ड की वोटर लिस्ट में जुड़ते। मतदाता सूची में इन हजारों वोटरों के नाम इधर से उधर होने पर उन्होंने सूची को दुरुस्त करने वापस अधिकारियों के पास भेज दिया है।

कालीमाता वार्ड के 1200 वोटर दूसरे वार्ड के बूथ में डाल दिए

मतदाता सूची में भारी गड़बड़ी के कारण कालीमाता वार्ड के 1200 मतदाताओं का नाम परिसीमन के बाद शंकरनगर, गुरु गोविंद सिंह वार्ड के अलग-अलग बूथ में डाल दिए गए हैं। पार्षद डॉ. प्रमोद साहू ने निर्वाचन अधिकारी के पास इस त्रुटि को दुरुस्त करने आवेदन लगाया है। इसमें कालीमाता वार्ड के दक्षिण दिशा में सरस्वती दाल मिल कल्याण पब्लिक स्कूल के सरहद होकर, खादी ग्रामोद्योग के सामने मार्ग तक और उसके बाद अशोका विहार कालोनी के मतदाताओं का नाम गुरु गोविंद सिंह वार्ड 4 अनुभाग में सम्मिलित कर दिया गया है, जो बहुत बड़ी त्रुटि है। उनका कहना है, गुरु गोविंद सिंह वार्ड क्रमांक 29 एवं शंकर नगर वार्ड क्रमांक 30 में शामिल किए गए मतदाताओं के नाम परिसीमन के अनुसार कालीमाता वार्ड में शामिल किया जाए। ऐसा नहीं होने पर संबंधित मतदाताओं को चुनाव के दौरान भारी अड़चन होगी।

बीएसयूपी के वोटर का नाम सहयोग पार्क, प्रेम पार्क रेसिडेंसी में जोड़ दिया

भौतिक सत्यापन किए बगैर वार्डों का परिसीमन होने से मतदाता सूची में भारी गड़बड़ी हुई है। पार्षद लीलाधर चंद्राकर ने बताया, उनके वार्ड में बीएसयूपी परिसर अमृत होम के नाम से है। इसमें रहने वाले गरीब परिवारों का नाम बगैर भौतिक सत्यापन किए सहयोग पार्क और प्रेम पार्क रेसिडेंसी में डाल दिया गया है, जबकि ये लोग बीएसयूपी में बरसों से रहते हैं। इनके वार्ड का नंबर 50 है, जबकि परिसीमन के बाद इन्हें वार्ड 52 में दर्शाया गया। कुल मिलाकर 2500 वोटरों में 500 वोटरों के नाम मतदाता सूची में छूट गए हैं। सूची में संशोधन की सख्त जरूरत है।

1000 मतदाताओं के नाम गायब, सबूत के साथ करूंगा शिकायत

रविंद्र नाथ टैगोर वार्ड में 700 मतदाताओं के नाम नई मतदाता सूची में गायब है। नक्शे में गुरु गोविंद सिंह वार्ड का एक हिस्सा जोड़ा गया है, लेकिन मतदाता सूची में वहां के मतदाता का नाम ही नहीं है। ये कहना है, पार्षद लता-सुनील चौधरी का। इसी प्रकार रेड्डी पारा नवदुर्गा चौक मोहल्ले के 300 मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में नहीं है, जबकि वह वार्ड के बीच में स्थित है। श्री चौधरी ने कहा, यह गंभीर त्रुटि है, संबंधित वोटरों को पंडित रविशंकर शुक्ल वार्ड जोड़कर मतदाता सूची का प्रकाशन कराने वे सबूत के साथ निर्वाचन आयोग में अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे।

Next Story
Share it
Top