logo
Breaking

सामने आया पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा, किसान को लॉकअप में बंदकर बेरहमी से पीटा

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा सामने आया है। पुलिस ने चोरी के आरोप में एक किसान को लॉकअप में बंद करके बेरहमी से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं पुलिस वालों ने डंडे की जोर पर उसे जुर्म कबूल करने के लिए भी दबाव बनाया

सामने आया पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा, किसान को लॉकअप में बंदकर बेरहमी से पीटा

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा सामने आया है। पुलिस ने चोरी के आरोप में एक किसान को लॉकअप में बंद करके बेरहमी से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं पुलिस वालों ने डंडे की जोर पर उसे जुर्म कबूल करने के लिए भी दबाव बनाया। अंतत: जब किसान ने अपराध नहीं कबूल किया तो बड़ी चतुराई से पुलिस वालों ने 151 का मामला दर्ज कर जमानत पर रिहा कर दिया। लेकिन जब मामले की जानकारी मीडिया को हुई तो अधिकारियों के हाथ पांव भी फुलने लगे और आनन—फानन में दो आरक्षकों को लाईन अटैच करते हुए महिला थाना प्रभारी को थाने से हटा दिया और जांच के आदेश दिए हैं।

दरअसल बीते दिनों दरअसल बजाना गांव में 15 दिन पहले राजकिशोर उपाध्याय के घर चोरी हुई थी। चोरी के शक में पुलिस ने गांव के ही एक किसान बालकिशुन यादव को पूछताछ के लिए थाने बुलाया बालकिशुन को कैदखाने में बंद करके पहले तो उस पर जमकर लाठी भांजी, फिर अपराध कबूल करने के लिए दबाव बनाने लगे।
मामले की भनक जब मीडिया को लगी तो विभाग के अधिकारियों की भी सांस अटक गई और आनन—फानन में कार्रवाई करते हुए आरक्षक अंकित उपाध्याय और शुभम मिश्रा को लाइन अटैच कर दिया। वहीं, थाना प्रभारी ऋतु उपाध्याय को थाने से हटा दिया।
Share it
Top