Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खतरनाक: ये हत्यारा महिलाओं को मारने से पहले और बाद में बनाता था शारीरिक संबंध

दो घटनाओं में सामानता को देखते हुए पुलिस को पहले ही आशंका हो गई थी कि घटना को किसी एक व्यक्ति या गिरोह ने अंजाम दिया है।

खतरनाक: ये हत्यारा महिलाओं को मारने से पहले और बाद में बनाता था शारीरिक संबंध
X

पांच-पांच हत्या के जिस आरोपी को तलाशने पुलिस दिन रात एक कर रही थी, उसके पकड़े जाने के बाद जो हकीकत सामने आई, उससे इंसानियत भी शर्मशार हो गई।

जितेंद्र ध्रुव अपने शिकार को पहले प्रेम जाल में फंसाता था, उसके बाद उसे लूटने का प्लान बनाता था। जिन पांच लोगों की जितेंद्र ने हत्या की है, उनके परिजनों द्वारा देख लिए जाने पर पकड़े जाने के भय से उन्हें, उसने मौत के घाट उतार दिया।

जितेंद्र ने जिन तीन महिलाओं की हत्या की है, उसमें से दो काे मारने से पहले और बाद में भी शारीरिक संबंध बनाया।

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़: जमानत के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता पर हाईकोर्ट में फैसला सुरक्षित

जितेंद्र ने पार्वती को अपने झूठे प्रेम जाल में फंसाया। उसका पार्वती के घर नियमित आना-जाना था। एक दिन उसने अपनी कथित प्रेमिका के घर में जेवर देख लिए।

उन्हें हासिल करने वह उसके घर पहुंचा और वहां उससे शारीरिक संबंध बनाया। युवती की मां के देख लिए जाने और विरोध करने पर उसने पहले उसकी मां पर हथौड़ी से ताबड़तोड़ हमला कर मार डाला।

भेद खुलने के भय से उसने पार्वती की भी निर्ममता पूर्वक हत्या कर लाश के साथ शारीरिक संबंध बनाया और फरार हो गया। दूसरी घटना में स्वसहायता चलाने वाली उषा से आरोपी ने 15 हजार रुपए उधार लिए थे। उधार की रकम चुकाने जब वह उसके घर पहुंचा, तो घर पर रखे जेवर देखकर उसकी नीयत खराब हो गई।

इसे भी पढ़ें- ‘लिपस्टिक, छोटी ड्रेस पहनकर लड़कों के सामने जाने वाली लड़कियां देती हैं 'गैंगरेप का न्योता’

इसके बाद एक दिन वह मौका पाकर पीछे के रास्ते से उसके घर पहुंचा। उषा के पति और दो बच्चों के जाग जाने की वजह से पहले तो उसने उषा के पति और दो बच्चों पर प्राणघातक हमला कर दिया।

हमले में बुरी तरह घायल उषा के पति और उसके एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसके बाद उसने उषा के साथ जबर्दस्ती शारीरिक संबंध बनाया और फिर उसकी हत्या कर दी। उसके साथ भी उसने मरने के बाद फिर शारीरिक संबंधा बनाया।

ऐसे पकड़ा गया आरोपी

दोनों घटनाओं में सामानता को देखते हुए पुलिस को पहले ही आशंका हो गई थी कि घटना को किसी एक व्यक्ति या गिरोह ने अंजाम दिया है। इस लिहाज से पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के गांवों में जांच केंद्रित की।

पार्वती का मोबाइल, जिसे आरोपी चोरी कर अपने साथ ले गया था, उसका अंतिम लोकेशन संबलपुरी गांव मिला। जितेंद्र बेरोजगार था और वह हिंसक प्रवृत्ति का था। वह लूटे गए पैसों से अपने दोस्तों के साथ शराबखोरी कर रहा था।

पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की, तो उसने पांच हत्या का अपराध कबूल कर लिया।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली के बाद छत्तीसगढ़ में संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर उठे सवाल, बिलासपुर हाईकोर्ट में सुनवाई आज

डेढ़ लाख कॉल डंप और साढ़े 12 हजार लोगों से पूछताछ

हत्या के मामले को सुलझाने के लिए धमतरी क्राइम ब्रांच प्रभारी राकेश मिश्रा और उनकी टीम ने डेढ़ लाख कॉल डंप खंगालने सहित साढ़े 12 हजार संदिग्धों से पूछताछ की।

इसके बाद असल आरोपी को पकड़ा। दोनों मामलों को सुलझाने वाले पुलिसकर्मियों को आईजी ने प्रोत्साहित करने 60 हजार और एसपी ने 20 हजार रुपए नकद इनाम देने की घोषणा की है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story