Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विधानसभा चुनाव वाली ईवीएम और वीवीपैट से ही कराए जाएंगे लोकसभा चुनाव

प्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रयोग में आई मशीनों से ही लोकसभा चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। इसके लिए फरवरी के महीने से ईवीएम मशीनों की रेंडमाइजेशन प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है।

विधानसभा चुनाव वाली ईवीएम और वीवीपैट से ही कराए जाएंगे लोकसभा चुनाव
X

प्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रयोग में आई मशीनों से ही लोकसभा चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। इसके लिए फरवरी के महीने से ईवीएम मशीनों की रेंडमाइजेशन प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है। वोटिंग और मतगणना के दौरान खराब पाई गई मशीनों को रिप्लेसमेंट के लिए वापस हैदराबाद भले ही भेजा जाएगा, लेकिन अतिरिक्त मशीनों की मांग नहीं की जाएगी।

हालांकि अभी विधानसभा चुनाव के दौरान जिन ईवीएम व वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया था, उसका रिकॉर्ड अभी खत्म नहीं किया जाएगा। निर्वाचन को कोई अदालत में चुनौती न दे, इसलिए ईवीएम-वीवीपैट 45 दिन तक यथावत रखी जाएंगी।

विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद अब निर्वाचन आयोग की टीम लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। इसके लिए ही गाइड लाइन जारी की गई है कि अगले एक महीने तक किसी भी बड़े प्रशासनिक अधिकारी का तबादला राज्य सरकार नहीं कर सकती। साथ ही कलेक्टरों सहित दूसरे अधिकारियों को लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए टीम बनाने कहा गया है।

निर्वाचन विभाग के अनुसार प्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रयोग में आई मशीनों से ही लोकसभा चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। इसके लिए फरवरी के महीने से ईवीएम मशीनों की रेंडमाइजेशन प्रक्रिया शुरू हो सकती है। वोटिंग और मतगणना के दौरान खराब पाई गई मशीनों को रिप्लेसमेंट के लिए वापस हैदराबाद भले ही भेजा जाएगा लेकिन अतिरिक्त मशीनों की मांग नहीं की जाएगी।

अभी तक प्रदेश में कोई दावा-आपत्ति नहीं

निर्वाचन विभाग के अनुसार अभी विधानसभा चुनाव के दौरान जिन ईवीएम व वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया था, उसका रिकॉर्ड अभी खत्म नहीं किया जाएगा। निर्वाचन को कोई अदालत में चुनौती न दे, इसलिए ईवीएम-वीवीपैट 45 दिन तक यथावत रखी जाएंगी।

हालांकि अभी तक चुनाव नतीजों को लेकर किसी भी प्रत्याशी की तरफ से कोई दावा-आपत्ति नहीं आई है इसलिए निर्वाचन विभाग में राहत की सांस है। अधिकारियों के मुताबिक वोटिंग और मतगणना के दौरान खराब पाई गई मशीनों को रिप्लेसमेंट के लिए वापस हैदराबाद भेजा जाएगा।

साढ़े तीन सौ से ज्यादा रिजर्व मशीनों का इस्तेमाल

निर्वाचन विभाग के अनुसार लोकसभा चुनाव के लिए अतिरिक्त ईवीएम और वीवीपैट की मांग नहीं आई है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में ईवीएम से ज्यादा वीवीपैट मशीनों में खराबी की शिकायत आई थी। इस वजह से साढ़े तीन सौ से ज्यादा रिजर्व मशीनों का इस्तेमाल किया गया था।

अधिकारियों के अनुसार मशीनों की खराब तकनीकि कारणों से थी इसे दूर किया जाना है इसलिए जल्द ही इन मशीनों को हैदराबाद भेजा जाएगा। मशीनों के साथ निर्वाचन विभाग के अधिकारी भी जाएंगे।

पहली बार वोटर कार्ड बनेगा मुफ्त में

चुनाव आयोग में पहली बार इपिक कार्ड प्रदान करने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। यदि मतदाता डुप्लीकेट इपिक कार्ड बनवाना चाहते हैं तो उन्हें निर्धारित शुल्क के साथ इपिक कार्ड दिया जा सकता है। मतदाता सूची के साथ कंट्रोल टेबल में संलग्न नक्शे का सत्यापन करेंगे। वे घर-घर जाकर अनिवार्य रूप से प्रत्येक घर के वोटरों के नाम, पिता या पति का नाम, संबंध, उम्र, फोटो एवं पता का सत्यापन करेंगे। इसके अतिरिक्त फोटो रहित मतदाताओं से अच्छी गुणवत्ता का फोटो प्राप्त करेंगे। सर्वे फार्म भरने के बाद मतदाता सूची में नाम जुड़वाने की कार्यवाही निरंतर होनी चाहिए।

निर्वाचन कार्यालय से मिले हैं निर्देश

विधानसभा निर्वाचन को कोई अदालत में चुनौती न दे दे, इसलिए ईवीएम-वीवीपैट 45 दिन तक स्ट्रांग रूम में यथावत रखी जाएंगी। इसके निर्देश प्रदेश नि‌र्वाचन कार्यालय से मिले हैं। विधानसभा चुनाव में ईवीएम से ज्यादा वीवीपैट मशीनों में खराबी की शिकायत आई थी, इन्हें सुधारा जाएगा।

- सुमित अग्रवाल, उप जिला निर्वाचन अधिकारी

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story