Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लॉकडाउन : शराब दुकानें खुलवाने कवासी लखमा को कॉल कौन कर रहा है?

धरम लाल कौशिक बोले- 1.2 फीसद राजस्व के लिए जनता की जान जोखिम में डाल रही सरकार। पढ़िए पूरी खबर-

लॉकडाउन : शराब दुकानें खुलवाने कवासी लखमा को कॉल कौन कर रहा है?
X

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा को शराब दुकानें खोलने के लिए किसका फोन आ रहा था, यह स्पष्ट करना चाहिए। कोरोना की वजह से पूरे देश-दुनिया में त्राहिमाम की स्थिति है। इसके बीच प्रदेश सरकार की प्राथमिकता केवल शराब बेचने की है। प्रदेश में कोरोना से स्थिति और गंभीर हुई तो इसके लिए कौन जिम्मदार होगा।

उन्होंने कहा, प्रदेश में कुल बजट एक लाख 200 करोड़ रूपये इस वित्तीय वर्ष हेतु प्रस्तावित किया गया है, जिसमें आबकारी कर 5,200 करोड़ रूपये प्रस्तावित है। प्रतिमाह आबकारी कर से 433 करोड़ प्रस्तावित है। इस प्रकार तीन माह में भी दुकानें बंद होती हैं तो कोई राजस्व प्राप्त नहीं भी होगी तो 1200 करोड़ के राजस्व की कमी आएगी। जो पूरे बजट का मात्र 1.2 प्रतिशत है। उन्होंने कहा, केवल इसी राशि के लिए समूची जनता के जान को जोखिम के डालना कितना उचित है। उन्होंने कहा, पूरे प्रदेश में ओवररेट पर शराब बेची जा रही है। केवल आबकारी विभाग मूकदर्शक बना हुआ है। पूरे प्रदेश में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, और प्रदेश सरकार अपना पूरा ध्यान शराब बेचने में केंद्रित कर रही है।




धरम लाल कौशिक ने कहा, पूरे प्रदेश में मातृ शक्ति शराब ब्रिकी का विरोध कर रही है उसके बाद भी प्रदेश सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है। महिला संगठन लगातार उग्र विरोध कर रही है। इन सबके बाद भी प्रदेश की सरकार जनभावनाओं के मुताबिक शराब ब्रिकी के विरोध के बाद भी अपने हठ पर अडिग है। शराब की वजह के पूरे प्रदेश में अप्रिय घटनाएं बढ़ रही हैं।


Next Story