Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

LOCKDOWN : फीस भरने भेजा पालकों को मैसेज, स्कूलों को नोटिस जारी, मान्यता हो सकती है रद्द

कुछ निजी स्कूलों द्वारा अपने शिक्षकों के वेतन में कटौती की जा रही है। पढ़िए पूरी खबर-

LOCKDOWN : फीस भरने भेजा पालकों को मैसेज, स्कूलों को नोटिस जारी, मान्यता हो सकती है रद्द
X

रायपुर। लॉकडाउन के कारण सभी शिक्षण संस्थान बंद है, लेकिन शासन द्वारा आदेश दिए जाने के बाद भी कई निजी स्कूलों द्वारा फीस संबंधित मैसेज बालकों को फोन नंबर पर भेजा जा रहा है। ऐसे स्कूलों की जानकारी सामने आने के बाद जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा नोटिस थमाया गया है। आर के शारदा भारतीय विद्या भवन द्वारा मैसेज भेजकर फीस मांगी गई है।

शिकायत सामने आने के बाद जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा कार्रवाई की तैयारी है। जिला शिक्षा कार्यालय ने स्पष्ट किया है कि आपातकालीन स्थितियों में बनाए गए नियमों का उल्लंघन यदि स्कूल द्वारा किया जाता है, तो उनकी मान्यता भी समाप्त की जा सकती है।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान स्कूल द्वारा किसी भी तरह का शुल्क पलकों से लिए जाने पर रोक लगाई गई है। इस संदर्भ में पहले ही सरकार संबंधित अधिकारियों को अनुपालन के लिए निर्देशित कर दिया था। वहीं कुछ निजी स्कूलों द्वारा अपने शिक्षकों के वेतन में कटौती की जा रही है। इन स्कूलों पर भी कार्रवाई की तैयारी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ स्कूलों के खिलाफ भी संबंधित शिकायतें प्राप्त हुई है नोटिस भेजने की तैयारी है।

बस का भी मांग रहे किराया

निजी स्कूल द्वारा ऑनलाइन कक्षाओं को आधार बनाकर गर्मी की छुट्टियों की फीस मांगी जा रही है। इसके साथ ही बस का भाड़ा भी पालकों को देने के लिए कहा जा रहा है, जबकि मार्च के दूसरे पखवाड़े से ही स्कूलों में किसी भी प्रकार का परिवहन कार्य नहीं हो रहा है। अधिकतर स्कूलों में बस किराया 5000 से 10000 तक है इसके अलावा कई अन्य ऐसे मदों में भी वसूली की जा रही है, जिसकी आवश्यकता स्कूल में ऑफलाइन कक्षाएं संचालित होने पर ही होती हैं।

इस मामले में रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी जीएल चंद्राकर ने कहा कि- 'कुछ स्कूलों द्वारा फीस संबंधित मैसेज भेजने की शिकायत मिली है। मनमानी रोकने कार्यवाही की गई है। आदेश का उल्लंघन किया तो मान्यता रद्द की जाएगी।'

Next Story