Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लॉकडाउन : शादी तो हो गई लेकिन 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन भी

युवक को शादी करने की अनुमति तो मिल गई लेकिन नहीं मिली वापस घर लौटने की अनुमति पढ़िए पूरी खबर-

लॉकडाउन : शादी तो हो गई लेकिन 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन भी
X

कोरिया। लॉकडाउन के दौरान युवक को शादी करने की अनुमति तो मिल गई लेकिन शादी करके वापस घर लौटने की अनुमति नहीं मिल पाई। युवक और उसका परिवार इस बात से परेशान है कि प्रशासन उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन भी करने की बात कह रहा है।

यह मामला कोरिया के मनेन्द्रगढ़ का है। जानकारी के मुताबिक मनेन्द्रगढ़ निवासी सुशील गुप्ता अपनी माँ लक्ष्मीना गुप्ता और भाई के साथ अनुमति लेकर शादी करने मध्यप्रदेश के नौरोजाबाद गया। नौरोजाबाद में 6 मई को सुशील ने सुमन के साथ 9 लोगों की मौजूदगी में सात फेरे लिए लेकिन दुल्हन मायके से विदा लेने के बाद ससुराल नहीं पहुंच पाई और न ही दूल्हा अपने घर वापस लौट सका।

नौरोजाबाद में शादी के बाद जब विवाहित जोड़ा छतीसगढ़ के मनेन्द्रगढ़ की सीमा पर पहुंचा तो सीमा में तैनात टीम इन्हें घर जाने की अनुमति नहीं होने की वजह से प्रशासन द्वारा बनाये गए क्वारेंटाइन सेंटर में चौदह दिन के लिए क्वारेंटाइन करने की बात कह रहे हैं।

पिता पहले ही फंसे हैं लॉकडाउन में

सुशील की शादी का कार्ड बांटने उत्तरप्रदेश गए उसके पिता लॉकडाउन की शुरुआत से ही वहीं फंसे हुए है और अपने बेटे की शादी तक नहीं देख सके।

सुशील एक गाड़ी में अपनी माँ और छोटे भाई के साथ बारात लेकर गया था। जब वह अगले दिन अपनी दुल्हन को लेकर वापस लौटा तो प्रशासन उन्हें क्वारेंटाइन करने की बात कह रहा है।

युवक और उसके परिजनों का कहना है कि घर में ताला लगा हुआ है और माँ बीपी-सुगर की मरीज हैं ऐसे में सरकारी भवन में 14 दिन क्वारेंटाइन करने से समस्या खड़ी हो गई है। सुशील और परिजन प्रशासन से घर में ही बाहर से ताला लगाकर क्वारेंटाइन कर देने की गुहार लगा रहे हैं।

Next Story