Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लॉकडाउन : मयखाने खुलते ही जमकर पी शराब, सुबह खुली ही नहीं आँख

शराब दुकान खुलने से रायपुर में मारपीट से एक्सिडेंट का ग्राफ भी तेजी से बढ़ा। पढ़िए पूरी खबर-

लॉकडाउन : मयखाने खुलते ही जमकर पी शराब, सुबह खुली ही नहीं आँख
X
प्रतीकात्मक चित्र

रायपुर। कोरोना महामारी के लॉकडाउन में बंद मधुशालाओं के शटर उठते ही जाम पर जाम छलकने के बाद सुरूर भी ऐसा चढ़ा कि जान तक गंवानी पड़ रही है। अब डेढ़ महीने बाद अचानक शराब मिलने पर कहीं इतनी पी ले रहे हैं कि बिस्तर पर ही दम तोड़ दे रहे हैं। कहीं हवा की रफ्तार में कार को दौड़ा कर मकानों में घुसा दे रहे हैं। दीपक कॉलोनी में अधेड़ ने इतनी शराब पी ली, बुधवार सुबह तड़के बिस्तर में सोए हुए ही दम तोड़ दिया। परिजनों के जगाने पर नहीं उठा, तो उसे लेकर निजी अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। लॉकडाउन में शराब पीने से मौत का यह पहला मामला है। वहीं, संतोषी नगर में मंगलवार आधी रात शराब के नशे में धुत युवकों ने हवा की रफ्तार में सड़क पर कार दौड़कर मकान में घुसा दी, जिससे मकान क्षतिग्रस्त हो गया और कार सवार दोनों युवक घंटों कार में घायल हालत में बेहोश पड़े थे। उन्हें कार से निकालने में पुलिस को भी मशक्कत करनी पड़ी।

दिन भर छककर पी शराब

परिजनों के मुताबिक दीपक कॉलोनी राजेंद्रनगर निवासी 40 वर्षीय जीवन नागवानी शराब पीने के आदी थे। लॉकडाउन में शराब दुकान बंद थीं, इसलिए उन्होंने डेढ़ महीने शराब नहीं पी। शराब पीने की आदत छूट गई थी। सोमवार को दुकान खुलते ही कई बोतल शराब खरीदकर लाए और मंगलवार को बहुत शराब पी। रात में बगैर खाना खाए ही बिस्तर पर सो गए थे। सुबह बेहोशी की हालत में मिले। तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

तेज रफ्तार कार मकान में घुसी

जानकारी के मुताबिक टिकरापारा निवासी अमित मिश्रा और तुषार दोनों ने मंगलवार को आउटर की दुकान से शराब खरीदी और कार में बैठकर दोनों ने छककर पी। इसके बाद आधी रात कार को हवा की रफ्तार में दौड़ाई। कार इतनी तेज रफ्तार हो गई कि नशे में कंट्रोल नहीं कर सके और कार संतोषीनगर में सड़क किनारे मकान में टकरा गई। कार के टकराते ही गहरी नींद में सो रहे परिवार के लोग हड़बड़ा गए और बाहर भाग निकले। घायल चालक कार में सीट पर बेहोश था और उसका साथी उसे बाहर निकालने की कोशिश कर रहा था। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी।

क्राइम का ग्राफ बढ़ा

जानकारी के मुताबिक सोमवार से शराब दुकान खुलने के साथ ही क्राइम का ग्राफ भी बढ़ गया है। जहां डॉकडाउन के दौरान 3 से 5 क्राइम जिलेभर के थानों में दर्ज होते थे, अब बीते दो दिनों से 20 से 25 क्राइम रोज दर्ज हो रहे हैं। इनमें मारपीट, रेप, एक्सिडेंट से लेकर महिला क्राइम तक शामिल हैं।

इस मामले में राजेंद्रनगर थाना प्रभारी संजय पुढीर ने बताया कि- 'अधेड़ की लाश पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दी गई है। अभी पीएम रिपोर्ट नहीं मिली है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट हो पाएगी।'

Next Story