Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन के नाम पर शराब की अवैध बिक्री, कैमरे में कैद हुई तस्वीर

पांच दिन पहले शराब की ओवररेटिंग की खबर हरिभूमि ने प्रमुखता के साथ की थी प्रकाशित प्रकाशित पढ़िए पूरी खबर-

ऑनलाइन के नाम पर शराब की अवैध बिक्री, कैमरे में कैद हुई तस्वीर
X
प्रतीकात्मक चित्र

रायपुर। राजधानी की शराब दुकानों में मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही। जहां एक ओर शराब दुकान संचालक मनमानी कीमत पर शराब बेच कर लोगों की जेब पर कैंची चला रहे हैं प्रकाशित वहीं दूसरी ओर ऑनलाइन शराब बेचने की आड़ में लॉकडाउन के दौरान शराब दुकान के काउंटर से लोगों को शराब बेचने का मामला सामने आया है। यह पूरा मामला रविवार को सामने आया। इस संबंध में शराब बेचने का ठेका लेने वाली कंपनी एटूजेड के मैनेजर से संपर्क करने पर बताया कि ऑनलाइन शराब बिक्री करने के लिए प्रीमियम शराब दुकान से शराब की आपूर्ति की जा रही है। गौरतलब है कि पांच दिन पूर्व हरिभूमि ने शहर के एक दर्जन शराब दुकानों का स्टिंग आपरेशन किया था, जिसमें ज्यादातर शराब दुकानों में शराब ओवररेट पर बेचने की बातें सामने आई थीं।

कटोरा तालाब स्थित प्रीमियम शराब दुकान से हरिभूमि की टीम को लॉकडाउन के दौरान शराब बेचे जाने की सूचना मिली। इसके बाद मौके पर जाकर तसदीक करने पर शराब दुकान के काउंटर के एक गेट को खोलकर शराब दुकान के कर्मियों द्वारा लोगों को अंदर से शराब की सप्लाई करते पाया गया। मौके पर वीडियो बनाने का अहसास होने के बाद दुकान की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी ने आनन-फानन में दुकान का शटर गिरा दिया।

खुलेआम कैसे बेच सकते हैं

अगर कोई ऑनलाइन शराब खरीदता है तो उसे एक ओटीपी नंबर दिया जाता है। उस ओटीपी नंबर की तसदीक करने के बाद डिलीवरी ब्वॉय ग्राहक को शराब तथा बिल देता है। ऑनलाइन शराब खरीदने वाले को काउंटर में बुलाकर शराब देने का नियम ही नहीं है। जैसा कि वीडियो में दिख रहा है। दो युवक काउंटर से पांच बॉटल शराब खरीदते हैं। एक युवक के हाथ में तीन तथा दूसरे के हाथ में दो बॉटल शराब है। जिस युवक के हाथ में तीन बॉटल शराब है, उसके लिए शराब दुकान का सुरक्षाकर्मी कार का दरवाजा खोलता है। इसके कुछ देर बाद दूसरा युवक शराब की बॉटल के साथ कार में सवार होता है।

शराब डिलीवरी का ये है नियम

होम डिलीवरी में शराब को पैक कर दिया जाता है। साथ ही डिलीवरी ब्वॉय संबंधित पते पर शराब छोड़ने के लिए जाता है। जिस पते पर शराब मंगाई जाती है, वहां डिलीवरी लेने वाले से डिलीवरी ब्वाॅय ओटीपी नंबर पूछता है। इसके बाद उसे शराब की डिलीवरी दी जाती है। जिस तरह से वीडियो में दिख रहे युवक काउंटर से शराब खरीदकर कार में ले जाते दिख रहे हैं, दोनों युवक किसी एंगल से सेल्समैन नहीं लग रहे।

शराब की अवैध बिक्री को बढ़ावा

ऑनलाइन शराब बिक्री की आड़ में शराब की अवैध खरीदी-बिक्री बढ़ने की आशंका है। इस संबंध में जब हमने शराब बिक्री करने का ठेका लेने वाले कंपनी के मैनेजर उदय राव से संपर्क किया तो उसने ऑनलाइन शराब बिक्री का हवाला देकर प्रीमियम शराब बेचे जाने की बात कही। साथ ही जब हमने उससे पूछा कि दुकान से कैसे बाहरी व्यक्ति को शराब की आपूर्ति की गई तो वे इस बात का जवाब नहीं दे पाए। साथ ही मामले की जांच कराने की बात कहकर सवाल को टाल गए।

इस मामले में एटूजेड कंपनी के मैनेजर उदय राव का कहना है कि- 'प्रीमियम शराब दुकानों से शराब की ऑनलाइन बिक्री करनी है, इसलिए दुकान खुली है। बंद के दौरान काउंटर से कैसे दूसरों को शराब बेची गई, इसकी जांच कराने के बाद कुछ बता पाएंगे।'

Next Story