Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पति ने बनवा दिया था मृत्यु प्रमाण-पत्र, अब खुद को जिंदा साबित करने दफ्तरों के चक्कर लगा रही महिला

भिलाई के चरोदा निवासी एक महिला खुद को जिंदा साबित करने सरकारी कार्यालय के चक्कर लगा रही है। महिला के पति ने उसका डे‍थ सर्टिफिकेट बनवा लिया है। अब उस व्‍यक्ति की मौत हो चुकी है।

पति ने बनवा दिया था मृत्यु प्रमाण-पत्र, अब खुद को जिंदा साबित करने दफ्तरों के चक्कर लगा रही महिला

भिलाई के चरोदा निवासी एक महिला खुद को जिंदा साबित करने सरकारी कार्यालय के चक्कर लगा रही है। महिला के पति ने उसका डे‍थ सर्टिफिकेट बनवा लिया है। अब उस व्‍यक्ति की मौत हो चुकी है। पति की मौत के बाद अब पत्‍नी अपने दो बच्‍चों के साथ खुद को जिंदा साबित करने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार सात साल पहले चरोदा निवासी राजेश्वरी को प्रसाशन ने मृत घोषित कर दिया यह। अब यह महिला खुद को जिंदा साबित करने के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रही है। महिला ने मुख्यमंत्री भपेश बघेल से न्याय की गुहार लगाई है।
इंदिरा नगर निवासी डी. राजेश्वरी ने बताया कि उनके पति दुर्गा प्रसाद की मृत्यु मार्च 2018 में हो गई थी। रेलवे में कार्यरत रहे पति की पेंशन के लिए जब उन्होंने आवेदन किया है तो अधिकारियों ने बताया कि उनके पास जमा कराए गए दस्तावेजों के मुताबिक दुर्गा प्रसाद की पत्नी की भी मृत्यु हो चुकी है।
यह सुनते ही राजेश्वरी के होश उड़ गए। इस महिला ने सीएम भपेश बघेल को पत्र लिखकर खुद के मृत्यु प्रमाण पत्र को रद्द करने की मांग की है। राजेश्वरी ने बताया कि वह मानसिक परेशानी से गुजर रही है। उसको किसी तरह से कोई मदद नही मिल रही है।
इस सम्बंध में नगर निगम भिलाई तीन (चरोदा) के आयुक्त चन्दन शर्मा ने बताया कि आवेदिका के पति ने अपनी पत्नी की मृत्यु की गलत जानकारी देकर 2011 में प्रमाणपत्र बनवा लिया था। सात साल बाद पति की मौत के बाद महिला सामने आई। महिला के आवेदन पर कार्रवाई की जा रही है।
Next Story
Top