Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छठ, दिवाली के कारण यूपी, बिहार और बंगाल जाने वाली ट्रेनों में VIP कोटे के लिए सैकड़ों सिफारिशें

ट्रेनों में त्योहारी सीजन के कारण वीआईपी कोटे के लिए मारामारी मच गई है। डीआरएम ऑफिस में वीआईपी कोटे से रेल यात्रा करने वाले लोगों की रोजाना दर्जनों की संख्या में सिफारिशें पहुंच रही हैं।

FILE PHOTOFILE PHOTO

रायपुर। ट्रेनों में त्योहारी सीजन के कारण वीआईपी कोटे के लिए मारामारी मच गई है। डीआरएम ऑफिस में वीआईपी कोटे से रेल यात्रा करने वाले लोगों की रोजाना दर्जनों की संख्या में सिफारिशें पहुंच रही हैं। इनमें रायपुर रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली सभी एक्सप्रेस ट्रेनों में वीआईपी कोटे की सिफारिशों की संख्या अब तक सैकड़ों में पहुंच गई है। इसमें छठ, दीपावली पर यूपी, बिहार व बंगाल जाने वाली ट्रेनों में वीआईपी कोटे के लिए सिफारिशें सबसे अधिक हैं। इन वीआईपी कोटे से सफर करने वालों में सांसद, विधायक, राज्यों के मंत्री, जनप्रतिनिधि, रेल अफसर और मीडियाकर्मियों की सिफारिशें शामिल हैं।

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि ट्रेनों में रेलवे द्वारा वीआईपी कोटा निर्धारित किया गया है। इसके अंतर्गत जनप्रतिनिधियों, सरकारी अफसर, मीडियाकर्मियों को वीआईपी कोटे से कन्फर्म बर्थ की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है, ताकि वीआईपी पर्सन स्वयं व अपने परिवार के सदस्यों के साथ आरसमदायक रेल यात्रा कर सके। छठ व दिवाली त्योहार को लेकर हर बार की तरह इस बार भी ट्रेनों में वीआईपी कोटे से सफर करने वाले लोगों की सैकड़ों की तादात में सिफारिशें मिल रही हैं, लेकिन मुश्किल इस बात की है कि प्रत्येक ट्रेन में निर्धारित वीआईपी कोटे से तिगुने व चौगुने से अधिक संख्या में सिफारिशें पहुंच रही हैं। इससे गाड़ियों में वीआईपी कोटे से कन्फर्म बर्थ उपलब्ध कराने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इन ट्रेनों के लिए सबसे ज्यादा अर्जी

साउथ बिहार एक्सप्रेस, सारनाथ एक्सप्रेस, गोंदिया-बरौनी एक्सप्रेस, दुर्ग नवतनवा एक्सप्रेस, हावड़ा मेल, गीतांजलि एक्सप्रेस, पुरी-अहमदाबाद, हावड़ा एक्सप्रेस में वीआईपी कोटे से सफर करने वाले वीआईपी लोगों की थोक में अर्जियां यानी लेटरपैड पर सिफारिशें पहुंच रही हैं। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि छठ के कारण बिहार, उत्तरप्रदेश और दीपावली के लिए बंगाल रेलमार्ग की ट्रेनों में सबसे ज्यादा वीआईपी कोटे के अंतर्गत कन्फर्म बर्थ के लिए अर्जियां मिल रही हैं। इन ट्रेनों के लिए सिफारिशों की संख्या एक-एक गाड़ी के लिए 100 से 200 तक पहुंच गई हैं।

एक ट्रेन में अधिकतम 8 वीआईपी कोटा

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक एक एक्सप्रेस गाड़ी में अलग-अलग श्रेणी यानी स्लीपर, थर्ड एसी, सेकंड एसी बर्थ के लिए 8 वीआईपी कोटे की सीट उपलब्ध होती है। इन वीआईपी कोटे के अंतर्गत सांसद, विधायक, राज्यों के मंत्री, जनप्रतिनिधि, रेल अफसर और मीडियाकर्मियों को कन्फर्म बर्थ उपलब्ध कराया जाता है। इन वीआईपी कोटे के अतंर्गत जनप्रतिनिधियों को जहां रेलवे द्वारा कूपन उपलब्ध कराया जाता है, वहीं मीडियाकर्मियों को 50 प्रतिशत तक बर्थ कन्फर्म यानी किराए में रियायत दी जाती है।

स्टेशन से 80 एक्सप्रेस गाड़ियां रोजाना

रायपुर रेल मंडल के अंतर्गत रायपुर स्टेशन से रोजाना 75 से 80 की संख्या में एक्सप्रेस गाड़ियां गुजरती हैं। यह देश की चारों दिशाओं के रेल मार्गों के लिए चलती हैं। चूंकि राजधानी का रेलवे स्टेशन होने के कारण बड़ी संख्या में इन ट्रेनों से वीआईपी लोग सफर करते हैं, इसके लिए वह रेलवे द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले वीआईपी कोटे का लाभ उठाते हैं।

सैकड़ों की संख्या में सिफारिशें

त्योहारी सीजन के कारण सभी एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए सैकड़ों की संख्या में वीआईपी कोटे के लिए सिफारिशें पहुंच रही हैं। इसमें सबसे ज्यादा उत्तरप्रदेश, बिहार व बंगाल जाने वाली गाड़ियों के लिए सिफारिशें शामिल हैं।

- शिवप्रसाद पवार, पब्लिसिटी इंस्पेक्टर, रायपुर रेल मंडल

Next Story
Share it
Top