logo
Breaking

विशेष सत्र के पहले दिन अटल बिहारी सहित दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि के बाद सदन स्थगित

छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन आज सदन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ,पूर्व राज्यपाल बलरामजी दास टंडन के साथ ही लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी और पूर्व मंत्री रामचंद्र सिंहदेव को सदस्यों ने श्रद्धांजलि अर्पित की।

विशेष सत्र के पहले दिन अटल बिहारी सहित दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि के बाद सदन स्थगित

छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन आज सदन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ,पूर्व राज्यपाल बलरामजी दास टंडन के साथ ही लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी और पूर्व मंत्री रामचंद्र सिंहदेव को सदस्यों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर दो मिनट का मौन धारण कर सदन को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

आज सदन में विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि श्री टंडन ने मुझे सदैव एक अभिभावक के रूप में मार्गदर्शन दिया। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि स्व. अटल जी ने भारत का सम्मान और प्रतिष्ठा पूरे विश्व में स्थापित किया।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी अटल जी सहित सभी दिवंगत नेताओ को श्रद्धांजलि दी ।उन्होंने कहा कि अटल जी हम सबके के गुरु और पितातुल्य थे ।उनकी लोकप्रियता का मुकाबला करे आज ऐसा कोई नेता नहीं है ।उन्होंने अपना वादा पूरा कर छत्तीसगढ़ राज्य बनाया था ।
छत्तीसगढ़ को कई सौगातें दी है ।सर्वशिक्षा अभियान की शुरुआत उन्होंने की थी ।हमने छत्तीसगढ़ सशत्र बल का नाम पोखरण सशत्र बल किया है ।नए रायपुर,एक्सप्रेस वे,बिलासपुर विवि का नाम अटल जी के नाम पर करने का निर्णय लिया है ।उन्होंने रामचन्द सिंहदेव को याद करते हुए कहा कि वे राजा होते हुए भी फकीर की तरह जिए । वे अच्छे गोटोग्राफर भी थे ।
इधर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि देश के सशक्त और मजबूत प्रधानमंत्री के रूप में स्व. अटल बिहारी बाजपेयी सदैव याद रखे जाएंगे। उन्होंने कहा कि विपक्ष में कोई नेता हो तो वह स्व. अटल जी के जैसा हो। उन्होंने विपक्ष में रहते हुए एक आदर्श व्यक्ति के रूप में अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है, वे सदैव सबके प्रेरणा स्त्रोत रहेंगे।
इनके अलावा संसदीय कार्य मंत्री अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवाल, प्रेमप्रकाश पांडेय, केशव चन्द्र, विमल चोपड़ा आदि ने दिवंगत नेताओं को अपनी-अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा का विशेष सत्र दो दिन के लिए बुलाया गया है. इस सत्र में किसानो को धान पर बोनस देने के लिए अनुपूरक बजट लाया जाएगा. इसके अलावा प्रधान मंत्री आवास योजना में शहरी आबादी की भूमि पर काबिज परिवारों को भी मकान बनाने के लिए सहायता राशि देने संबंधी विषय सदन में आएँगे.
Share it
Top