logo
Breaking

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल गर्भवती माताओं की गोदभराई कार्यक्रम में हुई शामिल

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज रायपुर जिले के धरसीवां विकासखण्ड के ग्राम टेमरी में स्मार्ट आंगनवाड़ी और स्मार्ट स्कूल का अवलोकन कर बच्चों से चर्चा किया ।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल गर्भवती माताओं की गोदभराई कार्यक्रम में हुई शामिल

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज रायपुर जिले के धरसीवां विकासखण्ड के ग्राम टेमरी में स्मार्ट आंगनवाड़ी और स्मार्ट स्कूल का अवलोकन कर बच्चों से की बात।

ग्रामवासियो को गर्भवती माताओ और बच्चों के पोषण, शिक्षा, स्वाथ्य और स्वच्छता के सम्बंध में प्रेरित किया । इसके बाद राज्यपाल ने गर्भवती माताओं की गोदभराई और 6 माह की आयु पूर्ण करने वाले बच्चों का अन्नप्राशन भी किया।

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आंगनबाड़ी के बच्चों से कविता भी सुनी और उन्हें प्रोत्साहन स्वरूप किताबें और फल भी वितरित किया। उन्होंने ग्रामवासियों के सामूहिक सहयोग से स्कूल और आंगनबाड़ी केन्द्र और उसके पूरे परिसर को स्मार्ट बनाने के कार्य की प्रशंसा भी की।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं, उन्हें सही पोषण, स्वास्थ्य और शिक्षा मिले, ये सुनिश्चित करना हम सभी की जिम्मेवारी है। केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है, इनका भरपूर लाभ लोगों को मिलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि गर्भवती माताओं और उसके बच्चे को सही पोषण मिले इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मातृ वंदन योजना बनायी गई है। इस योजना के तहत गर्भवती माताओं और उसके बच्चे के टीकाकरण और बेहतर पोषण के लिए किश्तों में कुल 6 हजार रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।

ये राशि महिलाओं को उनके बैंक खातों में प्रदान की जा रही है। हम सभी की यह जिम्मेवारी है इस राशि का उपयोग माता और उसके होने वाले बच्चे के पोषण और स्वास्थ्य में हो, तभी हम कुपोषण से मुक्ति पा सकेंगे।

हमारी बेटी-बहु और उसके होने वाले बच्चे को सही पोषण मिले ताकि स्वस्थ्य राष्ट्र का निर्माण हो सके। राज्यपाल ने छत्तीसगढ़ में कुपोषित बच्चों को समुदाय की सहभागिता से बालमित्रों द्वारा गोद लेने के कार्य की सराहना भी की। उन्होंने इसके लिए टेमरी गांव के प्रयासों की प्रशंसा की।

राज्यपाल ने आगे कहा कि बीमारियां बाहर से नहीं आती बल्कि हम ही जो गदंगी और कूड़ा करकट करते हैं, उसी से बीमारियां उत्पन्न होती है। इसलिए जरूरी है कि हम अपने आस-पास के वातावरण को साफ और स्वच्छ रखें। सभी नियमित रूप से योग करे और नशापान से दूर रहे तभी एक स्वस्थ समाज और राष्ट्र के निर्माण में सहभागी बनेंगे।

राज्यपाल ने इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में 6 गर्भवती माताओं की गोदभराई और 6 माह की आयु पूर्ण करने वाले दो बच्चों को खीर खिलाकर उनका अन्नप्राशन भी किया। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दीपक सोनी, महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक पाण्डेय भी उपस्थित थे।

Share it
Top