Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना जांच किट के लिए सरकार परेशान, चीन की कंपनी ने किया धोखा

टेंडर हासिल करने वाली संस्था ने अब दलील दी है कि, जो रेट डाला गया था, वह भूलवश डाला गया था। पढ़िए पूरी खबर-

कोरोना जांच किट के लिए सरकार परेशान, चीन की कंपनी ने किया धोखा
X
प्रतीकात्मक तस्वीर। 

रायपुर। केंद्र समेत कई राज्यों ने कोरोना की जांच के किट के लिए आर्डर दिया था। इसके लिए जारी किया गया टेंडर चीन की एक कंपनी को मिला था। लेकिन अब रिटेंडर की तयारी की जा रही है। दरअसल ICMR (इंडियन काउंसिल फ़ॉर मेडिकल रिसर्च) ने रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट की मंज़ूरी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के CGMSC ने शॉर्ट टर्म टेंडर जारी किया था। टेंडर हासिल करने वाली संस्था ने अब दलील दी है कि, जो रेट डाला गया था, वह भूलवश डाला गया था।

इस टेंडर में दूसरे स्थान पर रही कंपनी ने जानकारी दी कि, मूल सप्लायर कंपनी ने किट अमेरिका भेज दिया है वहीं तीसरी कंपनी ने न्यूनतम दर पर काम करने से इंकार कर दिया। इसके साथ ही एक तकनीकी पेंच और फंसा, यह मसला था एक्साइज रेट कटौती का, जो टेंडर कॉल होने के बाद प्रभाव में आई।

स्वास्थ्य विभाग के सूत्र के मुताबिक- 'टेंडर हासिल करने वाली कंपनी ने तीस रुपए की दर भर दी और अब कह दिया कि गलती से भर दिया जबकि यह पता है कि इस दर पर काम नहीं हो सकता। हमने गलती से रेट भर दिया'

अब ज़ाहिर है कि रिटेंडर के अलावा विकल्प नहीं है। अब रिटेंडर करने पर समय और लगेगा पहले टेंडर काम करता तो दस दिन लगते सप्लाई होने जाता लेकिन अब 5 से 7 दिन और लगेंगे।

आपको बता दें कि केंद्र समेत कई राज्यों ने इस किट के लिए ऑर्डर दिया था, इसमें छत्तीसगढ़ भी शामिल था। यह किट केवल तीस मिनट में कोविड 19 की जाँच कर सकती है।

Next Story