logo
Breaking

मुठभेड़ के बाद जवानों ने किया नक्सलियों के प्रशिक्षण कैम्प को किया ध्वस्त

बीजापूर के 2 अलग अलग थानाक्षेत्रों में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के बाद जवानों ने माओवादियों के ट्रेनिंग कैम्प को भी ध्वस्त किया।

मुठभेड़ के बाद जवानों ने किया नक्सलियों के प्रशिक्षण कैम्प को किया ध्वस्त

बीजापूर के 2 अलग अलग थानाक्षेत्रों में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के बाद जवानों ने माओवादियों के ट्रेनिंग कैम्प को भी ध्वस्त किया। हालांकि इस मुठभेड़ में किसी माओवादी के मारे जाने की खबर नही है।ज़िले के गंगालूर और मिरतुर थानाक्षेत्र के पेद्दापाल और बेचापाल के जंगलों में कल देर शाम पुलिस और माओवादियों के बीच करीब आधे घंटे तक रुख रुखकर मुठभेड़ हुई।

जवानों को हावी पाता देख माओवादी घटनास्थल से भाग खड़े हुए। जिसके बाद जवानों ने माओवादियों के ट्रेनिंग कैम्प को ध्वस्त किया। मिली जानकारी के मुताबिक पेद्दापाल के जंगलों में माओवादी कमांडर विज्जा की पार्टी के मौजूदगी की सूचना पुलिस को मिली थी। इसी सूचना के आधार पर एसटीएफ़ और डीआरजी के करीब 200 जवान गंगालूर थानाक्षेत्र के पेद्दापाल के जंगलों की तरफ आपरेशन के लिए रवाना हुए थे।

पेद्दापाल के करीब पहाड़ में बैठे माओवादियों के संतरी की नज़र जवानों पर पड़ी और फिर जवानों और माओवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई। इस मुठभेड़ में जवानों की तरफ से 32 राउंड फायरिंग की गई तो वहीं माओवादियों की तरफ से 35-40 राउंड फायरिंग हुई है। घटना की पुष्टि करते हुए बीजापुर एस. पी. मोहित गर्ग ने बताया कि, दोनों मुठभेड़ में किसी भी तरह का कोई हताहत नही हुआ है।

Share it
Top