logo
Breaking

कोहरे का कहरः विजिबिलिटी 60 प्रतिशत तक घटी, घंटों लेट हुई ट्रेनें

दक्षिण पूर्व मध्य रेल मार्ग से होकर गुजरने वाली दर्जनों ट्रेनें रविवार को भी रायपुर जंक्शन पर देर से पहुंची। घने कोहरे के कारण विजिबिलिटी का स्तर 60 प्रतिशत तक प्रभावित हो गया है।

कोहरे का कहरः विजिबिलिटी 60 प्रतिशत तक घटी, घंटों लेट हुई ट्रेनें

दक्षिण पूर्व मध्य रेल मार्ग से होकर गुजरने वाली दर्जनों ट्रेनें रविवार को भी रायपुर जंक्शन पर देर से पहुंची। घने कोहरे के कारण विजिबिलिटी का स्तर 60 प्रतिशत तक प्रभावित हो गया है। इससे अधिकतर ट्रेनें अपने गंतव्य के लिए निर्धारित समय से घंटों लेट चलीं।

इन ट्रेनों में मुंबई एटीटी सुपर एक्सप्रेस 1 घंटा 16 मिनट, साउथ बिहार एक्सप्रेस 1 घंटा 34 मिनट, बिलासपुर रायपुर मेमू 58 मिनट, शिवनाथ एक्सप्रेस 1 घंटे 38 मिनट, टाटानगर इतवारी पैसेंजर 1 घंटा 43 मिनट, गीतांजलि एक्सप्रेस 32 मिनट, मुंबई एलटीटी कर्मभूमि एक्सप्रेस 40 मिनट, विशाखापटनम रायपुर पैसेंजर 1 घंटा 4 मिनट लेट से पहुंची।
तापमान के गिरने से लगातार घने कोहरा छाया हुआ है। इससे ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लगने से कई एक्सप्रेस व मेमू घंटों लेट चलीं। ट्रेनों की घंटों लेटलतीफी से यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

लेटलतीफी से यात्रियों में नाराजगी
स्टेशन के अधिकारियों का कहना है कि उत्तर भारत से आने वाली अधिकतर ट्रेनें कोहरे के कारण समय से चार घंटे तक लेट चल रही हैं। इसके साथ सभी मार्गों की अधिकतर ट्रेनें अपने निर्धारित समय से विलंब से स्टेशन पहुंच रही हैं। इसे लेकर यात्रियों में नाराजगी देखने को मिल रही है।
कोहरे के आगे रेलवे बेबस दिखाई दे रहा है। रेल यात्रा करने वालों के लिए इन दिनों कोहरा किसी बड़ी मुसीबत से कम नहीं है। सर्दी के कारण सुबह व रात के वक्त घना कोहरा छाने लगा है। कोहरे का सबसे ज्यादा असर रेल यात्रा पर देखने को मिल रहा है।
Share it
Top