Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्मार्ट सिटी की स्लम बस्तियों को सुधारने का दावा फिस्स

रायपुर स्मार्ट सिटी के अफसरों ने दो साल पहले शहर के 8 स्लम बस्तियों को आधुनिक कालोनी के रूप में विकसित करने योजना तो बना ली , पर आज तक इन बस्तियों को स्मार्ट सिटी के आधुनिक कालोनी बनाने की दिशा में रत्ती भर काम नहीं हुआ।

स्मार्ट सिटी की स्लम बस्तियों को सुधारने का दावा फिस्स

रायपुर स्मार्ट सिटी के अफसरों ने दो साल पहले शहर के 8 स्लम बस्तियों को आधुनिक कालोनी के रूप में विकसित करने योजना तो बना ली , पर आज तक इन बस्तियों को स्मार्ट सिटी के आधुनिक कालोनी बनाने की दिशा में रत्ती भर काम नहीं हुआ। अब अफसर इन बस्तियों का नया सिरे से सर्वे कराकर हाउसिंग फार आल में शिफ्ट करने की तैयारी में हैं। उनका तर्क ये है, कि बस्ती को खाली कराए बिना विकसित नहीं कर सकते।

शहर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए हांडीपारा, शिवपारा, नेहरूनगर, जोरापारा, रिकियापारा, बैजनाथपारा, बढ़ई पारा, मांगड़ापारा को आधुनिक कालोनी के रूप में विकसित कर वहां के रहवासियों का जीवन स्तर सुधारने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में योजना बनाई गई।
एरिया बेस डेवलपमेंट के तहत इन बस्तियों को चिन्हांकित कर वहां पार्किंग, सालिडवेस्ट मैनेजमेंट, लोगो के सुगम आवागमन के लिए बस स्टाप और रहवासियों को कम लागत पर घर बनाकर सुविधा मुहैया कराया जाना है। इसके लिए जोन स्तर सर्वे कराया गया और पात्र परिवारों को सूचीबद्ध कर इसकी जानकारी स्मार्ट सिटी के अधिकारियो को पहले ही दे दी गई। पर आठ स्लम बस्तियों में से एक भी बस्ती का कायाकल्प नही हो पाया।

स्लम को हाउसिंग फार आल में करेंगे शिफ्ट

रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के नोडल अधिकारी बीआर अग्रवाल ने बताया कि एबीडी एरिया के चिन्हांकित स्लम बस्तियों के रहवासियों को हाउसिंग फार आल में पक्का मकान बनाकर देंगे, इसके बाद ही खाली कराए जगह को आधुनिक स्वरूप देने का काम शुरू होगा।
Next Story
Share it
Top