logo
Breaking

परीक्षा में फेल अफसरों के पास अंतिम चांस, फिर होंगे आउट : उमेश सिन्हा

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में पास नहीं होने वाले अफसरों को एक अंतिम अवसर दिया जाएगा।

परीक्षा में फेल अफसरों के पास अंतिम चांस, फिर होंगे आउट : उमेश सिन्हा

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में पास नहीं होने वाले अफसरों को एक अंतिम अवसर दिया जाएगा। इसके बाद भी अगर आरओ और एआरओ परीक्षा पास नहीं कर सके, तो उन्हें निर्वाचन कार्य से हटाने की कार्रवाई की जा सकती है।

विधानसभा चुनाव के पहले तैयारियों का जायजा लेने छत्तीसगढ़ पहुंचे अतिरिक्त निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा ने साफ कर दिया है कि ऐसे अफसरों को निर्वाचन से हटाने की कार्रवाई की जाएगी। बीते दिनों निर्वाचन आयोग द्वारा ली गई परीक्षा में 3 कलेक्टरों समेत बड़ी संख्या में सहायक रिटर्निंग अधिकारी पास नहीं हो सके थे। अब ऐसे अफसरों पर गाज गिर सकती है।

अतिरिक्त निर्वाचन आयुक्त ने कहा, दो सालों ने निर्वाचन आयोग ने परीक्षा की व्यवस्था की है। निर्वाचन प्रक्रिया में लगे अफसरों को इस संबंध में सम्यक ज्ञान नहीं होता, इसलिए परीक्षा प्रारंभ की गई है। इसके लिए अधिकारियों की पहले ट्रेनिंग भी कराई गई है। इसके बाद भी किसी कारण से मार्जिन में रहने वालों को एक अवसर दिया जाएगा।
इसमें भी अगर वे सफल नहीं होते तो निर्वाचन प्रक्रियाओं में ऐसे आरओ व एआरओ को बदलने की कर्रवाई करेंगे। इसी तरह उन्होंने संवेदनशील क्षेत्रों में स्वीप और सुरक्षा संबंधी तैयारियों को लेकर भी सख्त निर्देश दिए हैं। जिन जिलों में तैयारियों से संतुष्ट नहीं हुए, वहां कुछ समय के भीतर कामकाज दुरुस्त करने कहा गया है। ऐसा नहीं होने पर संबंधित अफसरों के खिलाफ कार्रवाई भी होगी।

शराब बिक्री की होगी मॉनीटरिंग

राज्य सरकार द्वारा शराब बेचे जाने और इस प्रक्रिया का राजनीतिक लाभ उठाए जाने के सवाल पर अतिरिक्त निर्वाचन आयुक्त ने कहा, विभिन्न राज्यों में शराब बिक्री की अलग प्रक्रियाएं हैं। आयोग का काम यह सुनिश्चित करना है कि निर्वाचन के समय मतदाताओं को प्रलोभन देने के लिए इसका प्रयोग न हो। इसके लिए विशेष टीम बनाकर सख्ती से मॉनीटरिंग की जाएगी। कौन गलत तरीके से लाभ उठाने की कोशिश कर रहा है, उसका ध्यान रखा जाएगा।

कुछ जिलों में कमी, सुधार के फरमान

अतिरिक्त निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा ने बुधवार को राज्य स्तर के अधिकारियों की बैठक लेकर निर्वाचन संबंधी तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कलेक्टर, एसपी, सीआरपीएफ समेत सुरक्षा बलों के अफसर भी मौजूद रहे। संवेदनशील क्षेत्रों में स्वीप कैंपेन, सुरक्षा और परिवहन समेत अन्य तैयारियों की जानकारी ली गई। कुछ जिलों के कामकाज में कमी पाए जाने पर अफसरों को सुधार के निर्देश भी दिए गए।
Share it
Top