logo
Breaking

मतगणना ड्यूटी में जाने से पहले जान लें यह जरूरी बातें, वरना हो सकती है परेशानी

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मतगणना की शुरुआत 11 दिसंबर को सुबह 8 बजे से होगी। मतगणना का कार्य बिना किसी दिक्कत के सुचारू रूप से हो इकसे लिए जिले के अधिकारियों को ट्रेनिंग दी गई।

मतगणना ड्यूटी में जाने से पहले जान लें यह जरूरी बातें, वरना हो सकती है परेशानी
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मतगणना की शुरुआत 11 दिसंबर को सुबह 8 बजे से होगी। मतगणना का कार्य बिना किसी दिक्कत के सुचारू रूप से हो इकसे लिए जिले के अधिकारियों को ट्रेनिंग दी गई।
जिला निर्वाचन कार्यालय के मंथन सभाकक्ष में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से आए मास्टर ट्रेनर ने जिले की संबंधित अधिकारियों को ट्रेनिंग दी। इस दौरान बिलासपुर ​​जिला निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद और मुंगेली के जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह सहित सहायक रिटर्निंग ऑफिसर और मास्टर ट्रेनर मौजूद रहे।
ट्रेनिंग देने आए स्टेट मास्टर मनीष मिश्रा और पुलक भट्टाचार्य ने बताया कि मतगणना के दौरा वीवीपैट, टेबुलेशन, कंट्रोल यूनिट और उसकी डाटा एंट्री कैसे करनी है।
मतगण के लिए प्रशासनिक और सुरक्षा व्यवस्था, गणनाकर्मी और गणना अभिकर्ता की नियुक्ति, डाकमत पत्रों की गणना, प्रमुख वैधानिक प्रावधान, मतगणना केंद्रों में मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था, परिणामों की घोषणा और मतगणना पूरी होने के बाद निर्वाचन सामग्रियों को किस तरह सील करना है के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।
ट्रेंनिग के दौरान मास्टर ट्रेनर ने बताया कि मतगणना केंद्र में मतगणना कार्य में नियुक्त गणना सुपरवाइजर और गणना सहायक और निर्वाचन ड्यूटी में लगाए गये सरकारी अधिकारी-कर्मचारी, अभ्यर्थी, उनके गणना अभिकर्ता ही जारी प्रवेश पत्र के साथ प्रवेश कर सकेंगे।
गणना अभिकर्ताओं को निर्धारित आवंटित स्थान पर ही बैठना होगा। मतगणना पर नजर रखने के लिए सभी गतिविधियों की अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी कराई जाएगी।
ट्रेनिंग में बताया कि किसी भी प्रत्याशाी, मतगणना एजेंट और मतगणनाकर्मी सहित अधिकारी या कर्मचारी या मीडिया प्रतिनिधि को मतगणना कक्ष में मोबाइल फोन ले जाना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। आयोग की ओर से प्रदत्त आफिसशियल मीडिया प्रतिनिधियों के लिये मतगणना केंद्र में मीडिया सेंटर भी होगा, जहां वे अपना मोबाइल रख सकेंगे।
Share it
Top