logo
Breaking

मंत्रिमंडल गठन में हर वर्ग को सरकार में प्रतिनिधित्व देने का प्रयासः भूपेश बघेल

मंत्रिमंडल गठन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि संगठन के सभी वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने के बाद ही मंत्रिमंडल का गठन किया गया है। इसमें क्षेत्रीयता के साथ सामाजिक संतुलन का भी ध्यान रखा गया है।

मंत्रिमंडल गठन में हर वर्ग को सरकार में प्रतिनिधित्व देने का प्रयासः भूपेश बघेल

मंत्रिमंडल गठन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि संगठन के सभी वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने के बाद ही मंत्रिमंडल का गठन किया गया है। इसमें क्षेत्रीयता के साथ सामाजिक संतुलन का भी ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय और सामाजिक संतुलन को ध्यान में रखकर हर वर्ग को समायोजित कर सरकार में प्रतिनिधित्व देने का प्रयास किया गया है।

राजीव भवन में आयोजित प्रेसवार्ता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को मंत्री बनाने के संबंध में निर्णय में सभी बातों का ध्यान रखा गया है।
मंत्री नहीं बनाए जाने पर कई बड़े नेताओं में नाराजगी पर उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय, जातीय और संभागवार पूरा प्रतिनिघित्व मिले, इस पर जोर दिया गया है। आलाकमान के नेताओं से चर्चा के बाद इसे अंतिम रूप दिया गया है। आने वाले समय में एक और मंत्री की कमी पूरी की जाएगी।
उन्होंने बताया कि प्रदेश कार्यकारिणी की महत्वपूर्ण बैठक थी। 2018 के चुनाव में मिली सफलता के बाद अब 2019 के लोकसभा चुनाव के संदर्भ में मतदाता सूची में पुनरीक्षण शुरू हो रहा है, उसमें विशेष ध्यान देने की बात कही गई है। जहां बीएलए नहीं हैं, वहां नियुक्ति की बात कही गई है।
उन्होंने कहा कि 2019 के चुनाव नजदीक हैं और अप्रैल में प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अब तक यही रिकार्ड रहा है कि प्रथम चरण में ही छत्तीसगढ़ में चुनाव होता है। अप्रैल के दूसरे सप्ताह में छत्तीसगढ़ में मतदान होगा। पहले से ही तैयारी करनी होगी।
बघेल ने बताया कि यह प्रस्ताव पारित हुआ है कि जिस तरह विधानसभा स्तर पर प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया था, उसी तरह का आयोजन लोकसभा चुनाव की तैयारी में फिर से होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्याशी चयन में भी कार्यकर्ताओं की भागीदारी सुनिश्चित हो।
बघेल से यह पूछा गया कि राज्य में विधानसभा चुनाव आपके नेतृत्व में लड़ा गया था, क्या लोकसभा चुनाव का नेतृत्व भी आप करेंगे? सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव कांग्रेस संगठन ने लड़ा था, जिसका नेतृत्व राहुल गांधी कर रहे थे। लोकसभा चुनाव का नेतृत्व भी राहुल गांधी ही करेंगे।
बघेल ने कहा कि मैंने कांग्रेस आलाकमान से आग्रह किया है कि अब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी और को सौंप दी जाए। उन्होंने कहा है कि चूंकि सत्ता चलाने की बड़ी जिम्मेदारी मुझे सौंप दी गई है, ऐसे में संगठन की जिम्मेदारी किसी दूसरे साथी को दी जानी चाहिए। इससे संगठन का काम भी बदस्तूर चलता रहेगा। आगे पार्टी का जैसा निर्देश होगा, उसके अनुरूप निर्णय लिया जाएगा।
Share it
Top