logo
Breaking

छत्तीसगढ़: विधानसभा अध्यक्ष बने डॉ चरणदास महंत, भूपेश बघेल और रमन सिंह ने दी बधाई

छत्तीसगढ़ में डॉ चरणदास महंत को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुन लिया गया। निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व संसदीय कार्यमंत्री रविंद्र चौबे एवं अन्य सदस्यों ने उन्हें आसंदी तक पहुंचाया।

छत्तीसगढ़: विधानसभा अध्यक्ष बने डॉ चरणदास महंत, भूपेश बघेल और रमन सिंह ने दी बधाई

छत्तीसगढ़ विधानसभा में शुक्रवार को अध्यक्ष के निर्वाचन की प्रकिया पूरी हुई। डॉ. चरणदास महंत ने इसके लिए नामांकन दाखिल किया था, उन्हें निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुन लिया गया। निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने पर उन्होंने विधानसभा में अपनी आसंदी ग्रहण की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व संसदीय कार्यमंत्री रविंद्र चौबे एवं अन्य सदस्यों ने उन्हें आसंदी तक पहुंचाया। अध्यक्ष के निर्वाचन की घोषणा के साथ ही सदन में मेज थपथपाकर उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी गई।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अध्यक्ष निर्वाचन के बाद सदन को संबोधित करते हुए कहा कि आज का यह दिन गौरवपूर्ण दिवस है। आपके पास मध्य प्रदेश से लेकर देश के सबसे बड़ी पंचायत लोकसभा का भी बड़ा अनुभव है। आप अविभाजित मध्य प्रदेश में सदस्य मंत्री, लोकसभा में सदस्य एवं मंत्री तथा पक्ष विपक्ष का भी अनुभव रहा है। आपके पास बहुत राजनीतिक अनुभव है, जिसका हमें लाभ मिलेगा। हम आपके अनुभवों से आगे भी बढ़ेंगे और यह सदन ऊंची परंपराओं को कायम करेगा तथा हम आपके नेतृत्व में एक नई ऊंचाई को स्पर्श करेंगे।

Exclusive Interview : धरमलाल कौशिक के साथ प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी की खास बात-चीत

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि मेरे लिए आज सौभाग्य का दिन है, सभी को बधाई एवं शुभकामनाएं, मैं आपके 40 वर्षों के राजनीतिक जीवन, मध्य प्रदेश के विधानसभा से लेकर लोकसभा के राजनीतिक जीवन को अच्छे से जानता हूं। आपकी भूमिका सबको संवेदना के साथ सभी को साथ लेकर काम करने की है। मैं जानता हूं कि आप कबीर पंथ के अनुयायी हैं। उनके दोहे न काहूं की दोस्ती, न काहूं की बैर वाले भाव से काम करेंगे। सबको समान भाव से सम्मान मिलेगा, ऐसी अपेक्षा रखते हैं और प्रदेशवासियों को इस सदन के माध्यम से बहुत-बहुत बधाई।

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने उन्हें बधाई देते हुए छत्तीसगढ़ी में कहा कि मुझे बहुत खुशी हो रही है। आपके पास हर प्रकार की बड़ी समृद्धि है। विरासत में आपके पिता बिसाहू दास महंत का आदर्श प्रेम है। आप हर दृष्टि से विरासत के धनी हैं और आपके अंदर सबको लेकर चलने की कला भी है। आप हमारी छत्तीसगढ़ी बोली, भाषा, प्रेम एवं आदर्श को आगे बढ़ा सकते हैं और आप में वो योग्यता है कि आपको इस पद के लिए चुना गया है, उसके लिए आपको बहुत-बहुत बधाई। अजीत जोगी ने कहा कि इस पद के लिए आप जैसा और कोई उपयुक्त नहीं हो सकता था। आप पने पिता के आदर्श को आगे बढ़ाएंगे यही मेरी शुभकामना है।

हरिभूमि 4 जनवरी 2019 : ये हैं आज शाम की बड़ी खबरें

छजकां गठबंधन के नेता धरमजीत सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोकतंत्र के इस सर्वोपरि मंदिर में हम सबके साथ न्याय होगा, यह अपेक्षा रखते हैं। उन्होंने कहा कि संख्याबल में सत्तापक्ष के पास भारी बहुमत है, लेकिन प्रतिपक्ष भी गुणवत्ता के मामले में कम नहीं है। हम आपका संरक्षण चाहते हैं और हमारी आवाज को आसंदी का संरक्षण मिलेगा, यह मान कर चलते हैं। हमारी संसदीय परंपरा को लोकसभा ने भी स्वीकार किया है, तो हम चाहेंगे कि इनकी जीत को हम कायम रखें और आप विपक्ष को भी संरक्षण प्रदान करेंगे।

संसदीय कार्य मंत्री रवींद्र चौबे ने अपनी बात रखते हुए कहा कि लोकतंत्र में यह सदन उच्च परंपराओं का प्रतिनिधित्व करता है और आप के निर्वाचन के लिए मैं सभी के सहयोग के लिए बधाई देता हूं। चौबे ने कहा कि इस सदन में दो पूर्व मुख्यमंत्री हैं, चार पूर्व संसदीय कार्यमंत्री हैं, दो पूर्व विधानसभा अध्यक्ष हैं, हम सब अच्छी भावना के साथ हर मुद्दे पर सदन में चर्चा भी करेंगे और सबको विचार का मौका भी देंगे। उन्होंने कहा कि हम नीतियों और मर्यादाओं का पालन भी करेंगे और सदन को अच्छी ऊंचाई तक पहुंचाने में काम करेंगे।

भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि आपका पूरा जीवन कबीरमयी है और आपका अनुभव भी बहुत है। बहुमत इस बार इतना अधिक है कि डर लगता है, लेकिन मुझे उम्मीद है कि 68 की तुलना में 22 सदस्यीय विपक्षी दल को आपका संरक्षण मिलेगा। हमें उम्मीद है कि विपक्ष को पहला स्थान मिलेगा। हम सब मिलकर छत्तीसगढ़ की ऊंचाई के लिए काम करेंगे, यही हमारी प्राथमिकता है। जनता की आवाज निराश नहीं होगी और जनता की आंखों को हम यहां से निराश नहीं होने देंगे। इसके साथ नारायण प्रसाद चंदेल, इंदु बंजारे, अमरजीत सिंह भगत, शिवरतन शर्मा, मोहन मरकाम, डॉ. केशव चंद्रा ने भी विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत को बधाई दी और अपनी बात रखी।

Share it
Top