Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Corona : स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव से IMA ने मांगी कोराेना संक्रमण से बचाने वाली PPE Kit

IMA ने यह मांग भी रखी है कि नर्सिंग होम के लाइसेंस की अवधि एकमुश्त पांच साल के लिए बढ़ाई जाए। पढ़िए पूरी खबर-

Corona : स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव से  IMA ने मांगी कोराेना संक्रमण से बचाने वाली PPE Kit
X

रायपुर। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के एक प्रतिनिधि मंडल ने गुरुवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री TS Singhdev से मिलकर कई मुद्दों पर बात की। IMA ने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन उपकरण (PPE Kit) उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। साथ ही राज्य में चल रहे प्राइवेट Nursing Homes संचालकों के कानून की आड़ में परेशान करने की शिकायत भी की।

IMA ने यह मांग भी रखी है कि Nursing Homes के लाइसेंस की अवधि एकमुश्त पांच साल के लिए बढ़ाई जाए। प्रतिनिधिमंडल में IMA छत्तीसगढ़ के निर्वाचित अध्यक्ष डॉ महेश सिन्हा, डॉ ललित शाह, डॉ राकेश गुप्ता, डॉ अनिल जैन, डॉ आशा जैन और डॉ विकास अग्रवाल उपस्थित थे।

PPE Kit देने का आग्रह

IMA ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार देश के सभी शासकीय और प्राइवेट चिकित्सकों और चिकित्सा कर्मियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराने का आग्रह किया। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने कहा कि विभिन्न कंपनियों को दिए गए Order और केंद्र सरकार से प्राप्त होने वाले राज्य सरकार के कोटे की बड़ी मात्रा में अभी भी प्रतीक्षा है, जिसके प्राप्त हो जाने के बाद भी सरकारी अस्पतालों के लिए भी उपलब्धता की कमी बनी रहेगी, इसलिए छत्तीसगढ़ के सभी Nursing Homes और Doctors को सरकार की ओर से आवश्यक मात्रा में उपलब्ध करा पाना फिलहाल संभव नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री ने यह आश्वासन दिया कि भविष्य में तकनीकी रूप से सक्षम कंपनियों से वह रियायती दरों पर सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराने की कोशिश जारी रखेंगे।

Insurance की राशि हो 1 करोड़

IMA ने टीएस सिंहदेव से कहा है कि डॉक्टरों चिकित्सा कर्मियों और Para medical Staff को केंद्र सरकार द्वारा दी जाने इंश्योरेंस राशि को 50 लाख से एक करोड़ किया जाए। इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि IMA के सदस्यों को CM Bhupesh Baghel से अपने स्तर पर भी आग्रह करने को कहा है, जिससे यह मांग सरकार के सामने और सक्षम तरीके से रखी जा सके। IMA ने सभी सरकारी कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण की सहायता और बचाव कार्य में लगे सभी स्वास्थ्य एवं शासकीय कर्मचारियों के लिए प्रोत्साहन राशि भी तय करने की सलाह दी है।

Act की आड़ में परेशान करने की शिकायत

IMA के सदस्यों को Nursing Homes Act, Esma और अन्य कानूनी प्रावधानों की आड़ लेकर परेशान किए जाने की जानकारी भी दी गई है, जिसमें धमतरी, महासमुंद और बलोदा बाजार जिलों में IMA के प्रमुख सदस्यों के साथ हुई ज़्यादती और दुर्व्यवहार की सिलसिलेवार जानकारी दी। बताया कि प्रशासनिक अमले द्वारा भयादोहन और दुर्व्यवहार की कार्रवाई से चिकित्सकों में रोष है। स्वास्थ्य मंत्री ने इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

दिए ये सुझाव

- छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों से आ रहे मरीजों और उनके परिवार के लिए वर्तमान में आवश्यक e-pass व्यवस्था पारदर्शी और आसान बनाए रखने के लिए कुछ आवश्यक सुझाव भी दिए, जिसमें मरीज के साथ Nursing homes के इलाज के record और doctor द्वारा किए गए appointment के sms या पर्ची में अगली जांच हेतु note लिखे जाने को भी pass की प्रक्रिया के बराबर बनाने का आग्रह किया गया है।

- MBBS, Dental और Nursing के छात्रों के लिए प्रदेश के सभी सभी मेडिकल डेंटल व नर्सिंग कॉलेजों में Online Classes शुरू की जाएं।

- प्रदेश में द्वितीय MBBS की परीक्षाएं कोरोना संक्रमण के आसन्न Lock Down के कारण स्थगित की गई हैं, इन्हें Lock Down हटते ही प्राथमिकता के तौर पर संपन्न कराया जाए और Medical counsil के नियमानुसार कोर्स की अवधि पूरी कराई जा सके।

- प्रदेश के ज्यादातर अस्पतालों में नर्सिंग होम एक्ट के लाइसेंस के 5 वर्ष की अवधि बहुतायत नर्सिंग होम की मार्च 2020 में पूरी हो गई है। नवीनीकरण प्रक्रिया ना होने के कारण लाइसेंस कालातीत हो गए हैं और इन्हें 5 साल के लिए एकमुश्त बढ़ाया जाना जरूरी है।

- कोरोना संक्रमण टेस्टिंग की प्रक्रिया के सुलभ और सरलीकरण के लिए निरंतर कोशिश जारी रहनी चाहिए। अन्य राज्यों से आ रहे छात्रों और मजदूरों के रुकने के बार-बार स्थान बदलने की प्रक्रिया को रोकना जरूरी है।

Next Story