logo
Breaking

खुशी का जश्न सड़कों पर छलका, जमकर थिरके कांग्रेसी, सड़कों पर घंटों रहा जाम

छत्तीसगढ़ में डेढ़ दशक बाद सत्ता में वापसी से उत्साहित कांग्रेसियों के खुशी का जश्न सड़कों पर छलका। विधानसभा चुनाव के नतीजे आने बाद शहर में जगह-जगह कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थक डीजे की धुन पर सड़कों पर थिरकते नजर आए। साथ ही कई जगहों पर कांग्रेसी कार्यकर्ता और समर्थकों ने जुलूस निकाला।

खुशी का जश्न सड़कों पर छलका, जमकर थिरके कांग्रेसी, सड़कों पर घंटों रहा जाम

छत्तीसगढ़ में डेढ़ दशक बाद सत्ता में वापसी से उत्साहित कांग्रेसियों के खुशी का जश्न सड़कों पर छलका। विधानसभा चुनाव के नतीजे आने बाद शहर में जगह-जगह कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थक डीजे की धुन पर सड़कों पर थिरकते नजर आए। साथ ही कई जगहों पर कांग्रेसी कार्यकर्ता और समर्थकों ने जुलूस निकाला।

वहीं, शाम 4 बजे के बाद सेजबहार-संतोषीनगर रोड समेत शहर की कई सड़कों पर कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी, कार्यकर्ता और समर्थकों की गाड़ियों का हुजूम उमड़ पड़ा, जिससे घंटों रास्तों पर आवागमन बाधित रहा। इसके साथ कांग्रेस, भाजपा और छजकां के बड़े नेताओं के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई।
उधर, विधानसभा सीटों के नतीजों की स्थिति साफ होने के बाद भाजपा के कार्यकर्ता और समर्थक दोपहर बाद से एलसीडी पाइंटों से गायब हो गए। हालांकि कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता शाम तक पाइंटों पर जमे रहे। शाम को जगह-जगह पटाखा चलाने का सिलसिला शुरू हो गया, जो देर रात तक चला।
जुलूस में 5 हजार शामिल
विधानसभा चुनाव के नतीजों की स्थिति साफ होने के बाद कांग्रेस पार्टी ने शंकरनगर टर्निंग से राजीव भवन तक विजय जुलूस निकाला। शाम 4 बजे करीब 5 हजार कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थक शंकरनगर टर्निंग पर जमा हुए। वहां आधे घंटे तक डीजे की धुन पर थिरकने के बाद पीसीसी चीफ भूपेश बघेल के नेतृत्व में जुलूस निकाला गया, जो करीब घंटेभर में राजीव भवन तक पहुंचा। जुलूस में महिला विंग की सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भी हिस्सा लिया।
2 बजे के बाद भाजपा समर्थक गायब
विधानसभा के परिणाम को देखने के लिए जयस्तंभ, ओसीएम चौक के पास, महापौर निवास समेत करीब दर्जनभर जगहों पर एलसीडी लगाई गई थी, जहां सुबह 8 बजे से ही दर्शकों की भीड़ जमा होने लगी। इनमें अधिकतर भाजपा और कांग्रेस सर्मथक मौजूद थे। विधानसभा सीटों में कांग्रेस की बेतहाशा जीत का रास्ता साफ होता देख परिणाम देखने वालों की भीड़ छंटने लगी। 2 बजे के बाद भाजपा कार्यकर्ता और सर्मथक गायब हो गए। वहीं, कांगेस पार्टी के समर्थकों की रात तक भीड़ जमा रही।
सड़कों पर हजारों गाड़ियों का काफिला
विधानसभा सीटों के परिणाम से उत्साहित कांग्रेसी कार्यकर्ता और सर्मथक 3 बजे के बाद सेजबहार स्थित शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज की तरफ निकल पड़े। हजारों गाड़ियां मतगणना स्थल पर जमा हो गईं। सेजबहार से लेकर संतोषीनगर तक रोड पर सिर्फ गाड़ियां ही दिखाई दे रही थीं। इससे रोड पर शाम 5 बजे के बाद लंबा जाम लग गया, जो रात 9 बजे तक बना रहा। ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को जाम समाप्त कराने में पसीना छूट गया।
वीआईपी बंगलों की बढ़ी चौकसी
विधानसभा सीटों के नतीजों को देखते हुए पुलिस ने वीआईपी बंगलों की सुरक्षा बढ़ा दी। मुख्यमंत्री आवास, पीसीसी चीफ, नेता प्रतिपक्ष और भाजपा के मंत्री समेत दर्जनभर राजनेताओं के आवास पर 50-50 पुलिस जवानों का फोर्स तैनात कर दिया। इसके साथ संबंधित थानों की फोर्स को अलर्ट कर दिया गया।
दर्जनों जगहों पर बैरिकेड लगाया
विधानसभा सीटों की मतगणना शुुरू होने से पहले शहर में दर्जनभर जगहों पर बैरिकेड लगाकर पुलिस बल तैनात किया गया था। संतोषीनगर चौक से ही गाड़ियों को डायवर्ट कर दिया गया था। ट्रैफिक पुलिसकर्मियों द्वारा सेजबहार की तरफ जाने वाले मालवाहकों को रोककर दूसरे रास्ते से भेजा गया।
वहीं, आपातकाल की स्थिति से निपटने सीएम हाउस के पास समेत कई जगहों पर बैरिकेड लगाकर रास्ता रोका और चालकों से पूछताछ करने के बाद ही आगे जाने दिया गया।
Share it
Top