logo
Breaking

बड़ी खबर / छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मतगणना से पहले MIC भंग !

विधानसभा चुनाव में मतगणना से पहले महापौर प्रमोद दुबे एमआईसी भंग कर सकते हैं। इसके लिए पार्टी संगठन ने उन्हें इजाजत दे दी है। विधानसभा चुनाव के दौरान रायपुर ग्रामीण, रायपुर उत्तर और पश्चिम के विधायक प्रत्याशियों ने चुनाव कार्य में सहयोग नहीं करने को लेकर चार एमआईसी सदस्यों और कुछ पार्षदों के खिलाफ संगठन तथा दिल्ली में आला नेताओं के समक्ष खुलकर शिकायत की है।

बड़ी खबर / छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव मतगणना से पहले MIC भंग !

विधानसभा चुनाव में मतगणना से पहले महापौर प्रमोद दुबे एमआईसी भंग कर सकते हैं। इसके लिए पार्टी संगठन ने उन्हें इजाजत दे दी है। विधानसभा चुनाव के दौरान रायपुर ग्रामीण, रायपुर उत्तर और पश्चिम के विधायक प्रत्याशियों ने चुनाव कार्य में सहयोग नहीं करने को लेकर चार एमआईसी सदस्यों और कुछ पार्षदों के खिलाफ संगठन तथा दिल्ली में आला नेताओं के समक्ष खुलकर शिकायत की है।

शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश दुबे खुद एक दो दिन में महापौर प्रमोद दुबे को विधानसभा में पार्टी के विधायक प्रत्याशियों की ओर से लिखित शिकायत को लेकर एमआईसी भंग करने का प्रपोजल देने वाले हैं।

दरअसल, विधानसभा चुनाव के दौरान भारसाधक सदस्यों द्वारा वार्डस्तर पर कांग्रेस पार्टी के विधायक प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार को लेकर उदासीनता बरतने की शिकायत प्रत्याशियों ने दर्ज कराई है। साथ ही उन पर भितरघात करने का आरोप भी लगाया है।
सूत्रों के मुताबिक एमआईसी सदस्य अनवर हुसैन, अजीत कुकरेजा, राधेश्याम विभार और राकेश धोतरे के साथ पार्टी के ही अन्य सदस्यों की कार्यप्रणाली को लेकर संबंधित क्षेत्र के विधायक प्रत्याशी ने शिकायत की है।

की है शिकायत : जुनेजा
रायपुर उत्तर के प्रत्याशी कुलदीप जुनेजा ने कहा है, एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेजा और उनके पिता आनंद कुकरेजा ने चुनाव के दौरान पार्टी के खिलाफ काम किया है। इसीलिए मैंने लिखित रूप में इस संबंध में शहर अध्यक्ष के पास शिकायत दर्ज कराई है। इन्होंने चुनाव के दौरान पार्टी प्रत्याशी को प्रचार-प्रसार में सहयोग नहीं किया।
ईमानदारी से किया है काम
एमआईसी को भंग करने की बात सुनने में आ रही है। अभी तक हमें कुछ नहीं बोला गया है। मैंने रायपुर ग्रामीण क्षेत्र के विधायक प्रत्याशी के पक्ष में बहुत ईमानदारी से काम किया। जितना काम उन्होंने बताया, मैंने किया। इसके बाद भी शिकायत करते हैं, तो वे क्या कर सकते हैं।
- अनवर हुसैन, एमआईसी सदस्य
कान के कच्चे हैं प्रत्याशी
खुद पर लगाए गए आरोप को लेकर एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेेेेजा ने पलटवार किया है और कहा है कि कुलदीप जुनेजा कान के कच्चे हैं । किसी ने उन्हें भड़का दिया आैर वे बगैर प्रमाण के राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं, जबकि धमतरी में भाजपा की गाड़ी को लेकर हमने डीजीपी को सूचना दी थी। यही नहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री पूनिया को भी इससे अवगत कराया।
चूंकि रायपुर उत्तर के विधानसभा चुनाव में श्री जुनेजा को 8.50 करोड़ रुपए चुनाव प्रचार में खर्च करना था, लेकिन उन्होंने मात्र 60 लाख रुपए ही खर्च किए। प्रति वार्ड उन्हें 4 लाख रुपए चुनाव प्रचार में खर्च करना था, लेकिन प्रभारी को जो रिपोर्ट दी, उसके हिसाब से मात्र डेढ़ से दो लाख खर्च करना पाया गया, जबकि भाजपा के प्रत्याशी ने खुलकर चुनाव प्रचार में खर्च किया है। अजीत कुकरेजा का कहना है, उन्होंने अपने वार्ड में अपनी जेब से 60 हजार रुपए कांग्रेस प्रत्याशी को विधायक का चुनाव जितवाने खर्च कर दिए।
कार्यकर्ताओं ने बहुत शिकायत की है
चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के कार्यकर्ताओं ने संबंधित एमआईसी सदस्य द्वारा वार्ड में मीटिंग ना लेने और चुनाव प्रचार में पर्याप्त सहयोग नहीं करने को लेकर बहुत शिकायत की है।
- सत्यनारायण शर्मा, विधायक प्रत्याशी, रायपुर ग्रामीण
आई है शिकायत
एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेजा, अनवर हुसैन सहित अन्य एमआईसी सदस्यों और पार्षदों के खिलाफ चुनाव प्रचार में पार्टी को सहयोग ना करने की शिकायत संगठन आैर प्रदेश प्रभारी के पास आई है। विधायक पद के प्रत्याशियों ने मतगणना से पहले एमआईसी भंग कर नई एमआईसी गठन करने की मांग की है।
- प्रमोद दुबे, चुनाव समन्वयक, महापौर, रायपुर नगर निगम

एमआईसी भंग करने देंगे प्रपोजल
रायपुर ग्रामीण के प्रत्याशी ने एमआईसी सदस्य अनवर हुसैन, रायपुर उत्तर के विधायक पद के प्रत्याशी ने एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेजा सहित उनके पिता आनंद कुकरेजा के खिलाफ लिखित शिकायत दी है। रायपुर दक्षिण से भी शिकायत आई है, लेकिन लिखत में नहीं दिया। इन परिस्थितियों को देखते हुए महापौर प्रमोद दुबे को एमआईसी भंग करने प्रपोजल देंगे।
- गिरीश दुबे, शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष
Share it
Top