Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस से प्रदेश में गठबंधन पर फिर संकट

कांग्रेस से प्रदेश में गठबंधन पर फिर संकट सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी बासपा दावेदारों से कहा-सितंबर तक फॉर्म जमा करें मायावती का निर्देश लेकर छत्तीसगढ़ पहुंचे पार्टी के प्रभारी बसपा-कांग्रेस गठबंधन एक बार फिर संकट में है।

कांग्रेस से प्रदेश में गठबंधन पर फिर संकट
कांग्रेस से प्रदेश में गठबंधन पर फिर संकट सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी बासपा दावेदारों से कहा-सितंबर तक फॉर्म जमा करें मायावती का निर्देश लेकर छत्तीसगढ़ पहुंचे पार्टी के प्रभारी बसपा-कांग्रेस गठबंधन एक बार फिर संकट में है। क्योंकि, कांग्रेस ने बसपा को 5 विधानसभा सीट देने का जो ऑफर दिया था, वो बसपा को मंजूर नहीं है।
अब बसपा ने सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। राजधानी में शुक्रवार को प्रदेश प्रभारियों की दूसरी समीक्षा बैठक में टिकट के दावेदारों के लिए मियाद भी तय कर दी है। जिसके तहत सभी को सितंबर तक अपने फाॅर्म जमा करने का निर्देश दिया गया है।
बसपा की ओर से सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का स्टैंड लेने के राजनीतिक हलकों में नए मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि, ये भी कहा जा रहा है कि गठबंधन पर अंतिम फैसला पार्टी सुप्रीमो मायावती को ही लेना है।
दरअसल, चुनाव को लेकर मायावती का निर्देश लेकर छत्तीसगढ़ पहुंचे प्रभारियों ने कार्यकर्ताओं को साफ कर दिया है कि वो सभी सीटों पर चुनाव की तैयारी करें। क्योंकि गठबंधन होगा या नहीं इस पर सोचना पार्टी के अध्यक्ष के अलावा किसी और का काम नहीं है। कांग्रेस 5 सीट देना चाहती है, बसपा को ये मंजूर नहीं
बसपा के सूत्रों के मुताबिक सुप्रीमो मायावती सम्मानजनक सीटें चाहती हैं। उन्होंने कहा है कि इससे कम सीटों का ऑफर पार्टी की ओर से किसी भी सूरत में मंजूर नहीं किया जाएगा। इस बात को लेकर पार्टी के बड़े नेताओं का रुख शुरु से ही साफ है। सीटों की तादाद पूछे जाने पर पार्टी नेता कुछ भी कहने से बचते रहे हैं। उधर, कांग्रेस भी पीसीसी की उसी अनुशंसा पर गठबंधन की बात कह रही है, जिसमें बसपा को 5 से ज्यादा सीट न देना कहा गया है। छत्तीसगढ़ के नेता इससे ज्यादा सीट देने के लिए तैयार नहीं हैं।
सितंबर तक फॉर्म आएंगे, फिर अध्यक्ष को सूची सौंपेंगे हम सभी 90 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। हमने सभी दावेदारों को सितंबर तक फाॅर्म जमा करने के लिए कहा है। फॉर्म आने के बाद दावेदारों की सूची पार्टी अध्यक्ष को सौंपी जाएगी। गठबंधन पर फैसला तो पार्टी अध्यक्ष ही करेंगी।’’ -एमएल भारती, छत्तीसगढ़ बसपा प्रभारी
Next Story
Share it
Top