logo
Breaking

डियर ज़िन्दगी के जरिये फिर से कम्युनिटी पुलिसिंग की पहल

समाज और पुलिस के बीच बेहतर बनाने और सांप्रदायिक सद्भाव को कायम रखने एसएसपी अमरेश मिश्रा की पहल पर कम्युनिटी पुलिसिंग का रविवार को आगाज किया गया। इस अभियान को डियर जिंदगी का नाम दिया गया है।

डियर ज़िन्दगी के जरिये फिर से कम्युनिटी पुलिसिंग की पहल

समाज और पुलिस के बीच बेहतर बनाने और सांप्रदायिक सद्भाव को कायम रखने एसएसपी अमरेश मिश्रा की पहल पर कम्युनिटी पुलिसिंग का रविवार को आगाज किया गया। इस अभियान को डियर जिंदगी का नाम दिया गया है। इसका अर्थ प्रिय जीवन है, यानि जीवन अनमोल है, इससे प्रेम करो, नशाखोरी और अपराध की दलदल में फंसकर जीवन बरबाद नहीं करना है। नशाखोरी और अपराधमुक्त राजधानी बनाने पुलिस कम्युनिटी की पंडरी थाने से शुरुआत की गई।

कार्यक्रम की शुरुआत 3 बजे से हुई, आयोजन शाम 6 बजे तक चला। इस मौके पर एएसपी वर्षा मिश्रा, सीएसपी कोतवाली सुखनंदन राठौर, सीएसपी सूरज सिंह, पंडरी टीआई सोनल ग्वाला, एसआई किरीत राम सिन्हा समेत तमाम पुलिस स्टॉफ और सैकड़ों नागरिक मौजूद थे।
सीएसपी सुखनंदन राठौर ने कहा कि इस पहल का मुख्य उद्देश्य समाज में पुलिस की स्वीकार्यता बढ़ाकर सांप्रदायिक सदभाव बनाए रखना है। अपराधों पर नियंत्रण और छोटे-मोटे लड़ाई झगड़ों को आपस ही निपटाना है। इसके लिए उनके द्वारा एक स्लोगन 'डियर जिंदगी' रखा गया है। नशाखोरी और अपराध से मुक्त समाज का निर्माण ही बेहतर भविष्य दे सकता है, इसलिए इसका त्याग करना ही उचित है।
समूहों का गठन
डियर जिंदगी अभियान की पहल को सफल बनाने के लिए रविवार को करीब 10-12 समूहों का गठन किया गया है। इसे धीरे-धीरे और मजबूत किया जाएगा। सिर्फ पंडरी इलाके के करीब 300 महिलाओं और पुरुषों को जोड़ा गया है, इन्होंने समाज से नशाखोरी को उखाड़ फेंकने की शपथ ली है। इसमें पुलिस मित्रों की सहभागिता भी निर्धारित की गई है।
नशा अपराध की जड़
एडिशनल एसपी वर्षा मिश्रा ने कहा, नशाखोरी की दलदल में फंसकर व्यक्ति अपना भविष्य खराब कर लेता है। नशे को अपराध की जननी माना जाता है। नशे की लत न सिर्फ परिवार को तोड़ती है, बल्कि साधारण मनुष्य को जुर्म के रास्तों पर खड़ा कर मुजरिम बना देती है, इसलिए शराब, गांजा, भांग समेत तमाम नशे से तौबा करें, ताकि परिवार व समाज को बेहतर दिशा दे सकें। उन्होंने कहा, संभ्रात जनता के लिए पुलिस हमेशा तत्पर है। अपराधी और समाज में जहर घोलने वालों को बक्शा नहीं जाएगा।
Share it
Top