logo
Breaking

भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक खत्म, नान घोटाले की SIT जांच समेत कई फैसलों पर लगी मुहर

भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक खत्म हो गई है। इस बैठक में कई अहम फैसलों पर मुहर लगी है। बैठक में नान घोटाले की फिर से जांच की बात पर मुहर लगी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि नान घोटाले की जांच के लिए एसआईटी गठित की जाएगी। आईजी लेवल के अधिकारियों की एसआईटी इसकी जांच करेगी।

भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक खत्म, नान घोटाले की SIT जांच समेत कई फैसलों पर लगी मुहर

भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक खत्म हो गई है। इस बैठक में कई अहम फैसलों पर मुहर लगी है। बैठक में नान घोटाले की फिर से जांच की बात पर मुहर लगी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि नान घोटाले की जांच के लिए एसआईटी गठित की जाएगी। आईजी लेवल के अधिकारियों की एसआईटी इसकी जांच करेगी।

इसके साथ ही तृतीय अनुपूरक बजट की स्वीकृति दी गई है। किसानों को धान की बोनस राशि 2500 रुपए दिया जाएगा। इसके साथ ही बैठक में कृषि मंत्रालय के नाम बदलने का भी फैसला लिया गया है। अब इस विभाग का नाम कृषि विकास एवं कृषक कल्याण होगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में चौबे ने कहा कि शराब नीति पर भी कैबिनेट में निर्णय लिया गया है। शराब बंदी के लिए नई अध्ययन समिति का गठन किया जाएगा। यह समिति दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।
कर्जमाफी और अन्य खर्चों पर मंत्री रवींद्र चौबे ने कहा, एक लाख करोड़ का बजट है छत्तीसगढ़ का। अगर हम किसानों के लिए गरीबों के लिए खर्च कर रहे हैं तो इसकी व्यवस्था भी बजट में की जाएगी। उन्होंने कहा, भाजपा जब टिफिन और कटोरा बांट रही थी तो हम पूछने नहीं गए थे कि कहां से पैसा आएगा। भाजपा को अब खर्चों के संबंध में कुछ भी कहने का हक नहीं है।
नान घोटाले की जांच कराई जाएगी, इसे मंजूरी दी गई है। सिर्फ 6 पेज की जांच की गई थी पर अब सभी पन्नों की उच्चस्तरीय जांच होगी। आईजी लेवल के अधिकारियों की एसआईटी करेगी जांच।
Share it
Top