Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CG News : मिशन-25 की महिलाएं बना रहीं आयुर्वेदिक साबुन, वर्ल्ड बैंक टीम आज जानेगी इनका मार्केटिंग फंडा

शहर की महिलाओं द्वारा हाथ से बने खास आयुर्वेदिक साबुन बहुत जल्द विदेशों में भी नजर आएंगे। राजधानी में मिशन-25 की महिलाओं ने बिना किसी तरह की सरकारी मदद लिए खुद का कारोबार खड़ा किया है। इतना ही नहीं यह महिलाएं बिना​ किसी हाईटेक मशीन का इस्तेमाल किए खुद हाथ से साबुन बनाती हैं।

CG News : मिशन-25 की महिलाएं बना रहीं आयुर्वेदिक साबुन, वर्ल्ड बैंक टीम आज जानेगी इनका मार्केटिंग फंडा
X

शहर की महिलाओं द्वारा हाथ से बने खास आयुर्वेदिक साबुन बहुत जल्द विदेशों में भी नजर आएंगे। राजधानी में मिशन-25 की महिलाओं ने बिना किसी तरह की सरकारी मदद लिए खुद का कारोबार खड़ा किया है। इतना ही नहीं यह महिलाएं बिना​ किसी हाईटेक मशीन का इस्तेमाल किए खुद हाथ से साबुन बनाती हैं।

अलग-अलग जगहों पर इन 25-25 महिलाओ का समूह साबुन बनाने के साथ-साथ सेनेटरी नेपकीन, ग्रीन सब्जी और पेवर ब्लॉक बना रहा है। इन कामों को करने के लिए म​हिलाओं ने स्वयं अपना सेटअप तैयार किया है जिसके अनुसार सभी ने अलग-अलग अपनी-अपनी जिम्मेदारियां बांट रखी हैं। वहीं मार्केटिंग, प्रोडक्शन और फंड इकट्ठा करने का काम अलग-अलग महिलाओं का है।
मिशन-25 की महिलाओं के लिए सबसे बड़ी खुशी की बात यह है कि वर्ल्ड बैंक के अफसरों की एक टीम इनके मार्केटिंग फंडे को समझने के लिए खासतौर पर आज रायपुर आ रही है। वहीं इस टीम के साथ केंद्र सरकार के अफसर भी दिल्ली से आ रहे हैं।
पहली बार मैग्नेटो और अंबुजा मॉल में सीएसआर स्कीम के तहत दुकानें भी खोली गई हैं। इनका हर महीने एक लाख रुपए से ज्यादा का कारोबार हो रहा है। बता दें तिल्दा के रायखेड़ा में बन पेवर ब्लॉक फैक्ट्री की महिलाओं को छह महीने में ही 64 लाख रुपए का आॅर्डर मिला है। इसमें से 17 लाख रुपए के पेवर ब्लॉक की सप्लाई भी कर दी गई है।
महिलाओं के इस मार्केटिंग फंउे को समझने के लिए आईआईएम के छात्र भी इस पर स्टडी कर रहे हैं। आईआईएम रायपुर में इन्हीं महिलाओं द्वारा सुपर बाजार खोला गया है। इसके बाद अब ट्रिपलआईटी, रावतपुरा सरकार विश्व विद्यालय समेत कई बड़े संस्थानों में इसी तरह के सुपर बाजार खोले जा रहे हैं।
संभवत: इस महीने इनकी शुरुआत हो जाएगी। राज्य के नए पंचायत मंत्री इन नए बाजारों का शुभारंभ करेंगे।
जिला पंचायत अफसरों का मानना है अगर विदेशी अफसरों को महिलाओं को यह फंडा पसंद आता है तो विश्व बैंक की ओर से कारोबार को बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। ऐसा पहली बार हुआ है जब देश के सभी राज्यों में से सिर्फ रायपुर को चुना गया है।
महिलाओं को स्वावलंबी और आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए ही मिशन 25 शुरू किया गया है।छह महीने से भी कम समय में इनका टर्न ओवर एक करोड़ से ज्यादा हो गया है। इससे इनकी आर्थिक स्थिति बेहतर तो हो ही रही है साथ ही सैकड़ों महिलाओं को भी नया काम दे रही हैं।
-दीपक सोनी, सीईओ, जिला पंचायत रायपुर
अलोवीरा के साथ गुलाब के फ्लेवर
बिना किसी हाईटेक मशीन के इस्तेमाल के प्राकृतिक रूप से अलोवीरा और चंदन के साथ ही गुलाब के अलग-अलग फ्लेवर में यह साबुन तैयार किए गए हैं। जो त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। विशेषज्ञों का मानना है जो साबुन पारदर्शी होते हैं वह अच्छे होते हैं। महिला समूह द्वारा बनाए गए यह साबुन पूरी तरह से पारदर्शी हैंं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story