logo
Breaking

शुरु हुई बस्तर परिवहन संघ को बहाल करने की कवायद, दस्तावेजों की जांच में जुटे अधिकारी

सालों से धुल खाती पड़ी बस्तर परविहन संघ की फाइलों में सीएम भूपेश बघेल के ऐलान के बाद से एक बार फिर जान आ गई है।

शुरु हुई बस्तर परिवहन संघ को बहाल करने की कवायद, दस्तावेजों की जांच में जुटे अधिकारी

विकास तिवारी, बस्तर: सालों से धुल खाती पड़ी बस्तर परिवहन संघ की फाइलों में सीएम भूपेश बघेल के ऐलान के बाद से एक बार फिर जान आ गई है। दरअसल 1 जनवरी को दंतेश्वरी मंदिर के सामने मंच से प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने बस्तर परिवहन संघ को बहाल करने के आदेश दिए थे। इसके बाद से अधिकारियों ने बीपीएस के दस्तावेजों व गतिविधियों की जांच शुरू कर दी गई है।

इस संबंध में डिप्टी कलेक्टर प्रवीण वर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री के आदेश के बाद बीपीएस के दस्तावेज फर्म एवं सोसायटी के सहायक संचालक को सौंप दिए गए हैं। अधिकारियोें द्वारा इसकी जांच भी शुरू कर दी गई है। इस कार्यवाही में संघ के 2012 से 2017 तक के गतिविधियों की जांच की जाएगी। एक से दो दिनों के अंदर ही जांच कर रिपोर्ट मुख्यालय भेज दी जाएगी, जिससे बीपीएस के संबंध में आगे की कार्यवाही की जा सके।
दरअसल नगरनार स्टील प्लांट से लगे खुटपदर क्षेत्र में कुछ साल पहले दो गुटों में मारपीट हो गई थी। इस घटना में गोलीबारी गोलीबारी भी हुई थी। मामले की जांच के दौरान इसमें बीपीएस के तत्कालीन अध्यक्ष की भी भूमिका बताते हुए जिला व पुलिस प्रशासन ने इस संस्था में भी ताला लगा दिया था। संघ के सदस्यों द्वारा लंबी लड़ाई लड़ी गई और बीपीएस के पक्ष में उच्च न्यायालय से निर्णय लाया गया था। लेकिन यह खुशी भी ज्यादा दिनों तक टिक नहीं पाई, दो महीने में ही प्रशासन ने संघ पर पंजीयन में त्रुटि व आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाते हुए इसे दोबारा सील कर दिया गया। फिलहाल बीपीएस को जिला प्रशासन के दिशानिर्देश पर संचालित किया जा रहा है।
Share it
Top