logo
Breaking

CG News: NSUI और ABVP कार्यकर्ता आपस में भिड़े, किसी का पांव टूटा तो किसी का सिर फूटा, KTU का मामला

शुक्रवार को कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विवि के कैंपस में एबीवीपी और एनएसयूआई के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। मारपीट के दौरानएक छात्र का सिर फट गया, तो कुछ अन्य को गंभीर चोटें आई हें।

CG News: NSUI और ABVP कार्यकर्ता आपस में भिड़े, किसी का पांव टूटा तो किसी का सिर फूटा, KTU का मामला

रायपुर। शुक्रवार को कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विवि के कैंपस में एबीवीपी और एनएसयूआई के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। मारपीट के दौरानएक छात्र का सिर फट गया, तो कुछ अन्य को गंभीर चोटें आई हें।

घायल छात्रों का इलाज चल रहा है। मामला पुलिस तक पहुंच गया है। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का आरोप है कि यूनिवर्सिटी कैंपस में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की बैठक चल रही थी। बैठक में आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर चर्चा हो रही थी। आरोप है कि बैठक विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और एबीवीपी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य आशुतोष मंडाव ले रहे थे।
एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को जैसे ही बैठक के बारे में सूचना मिली, वे हॉल में पहुंच गए। दूसरी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बैठक में देखकर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने एनएसयूआई सदस्यों से गाली गलौज शुरू कर दी।
इसके बाद विवाद और मारपीट की स्थिति निर्मित् हो गई। हंगामा होते देख विवि के ही कुछ प्राध्यापकों ने उन्हें अलग कराया। इसके बाद दोनो पक्षों द्वारा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई।

पहले भी हो चुका हंगामा
केटीयू कैंपस का इस्तेमाल राजनीतिक उद्देश्य के लिए किए जाने को लेकर पहले भी कई बार हंगामा हो चुाक है। पत्रकारिता विवि के कुछ प्राध्यापक ​अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े हुए हैं। कुछ महत्वपूर्ण पदों पर भी रह चुके है।
उनके द्वारा एबीवीपी के समर्थन का आरोप लगता रहा है। संघ संबंधी मुद्दे पर भाषण, परिचर्चा के आयोजन को लेकर छात्रों और प्राध्यापकों के बीच विवाद होते रहे हैं। मुजगहन टीआई ने बताया,दोनों पक्षों क तरफ से शिकायत दर्ज कराई गई है। एबीवीपी के पारसनाथ चौधरी का सिर फटा है। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही एफआईआर दर्ज की जाएगी। अन्य छात्रों को हाथ पैर चोटें आई हैं।

राजनीतिक कार्यों के लिए उपयोग
विवि परिसर का उपयोग राजनीतिक कार्यों के लिए किया जा रहा था। इसका विरोध करने जब हम पहुंचे तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी।
- हनी सिंह बग्गा, एनएसयूआई ग्रामीण अध्यक्ष

बैठक लिए जाने का आरोप गलत
दो गुटों के बीच की झड़प है। बैठक लिए जाने का आरोप गलत है। मैं कोई बैठक नहीं ले रहा था।
- आशुतोष मंडावी, प्रोफेसर केटीयू एवं सदस्य एबीवीपी राष्ट्रीय
कार्यकारिणी दो गुटों के बीच झड़प हुई, जांच जारी
बैठक के संदर्भ में जानकारी नहीं है। दो गुटों के बीच झड़प जरूर हुई है। इसी जांच कराई जा रही है।
- अतुल तिवारी, कुलसचिव, केटीयू
Share it
Top