logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार : रूठे पति-पत्नियों को नेशनल लोक अदालत ने समझाया, 15 जोड़े ने एक-दूजे को वरमाला पहनाकर फिर गले लगाया

जिला न्यायालय में आज नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया. आपसी मनमुटाव के चलते अलग थलग हुए 15 जोड़ो को इस लोक अदालत में समझाइश देकर आपसी राजीनामा कराया गया.

छत्तीसगढ़ समाचार : रूठे पति-पत्नियों को नेशनल लोक अदालत ने समझाया, 15 जोड़े ने एक-दूजे को वरमाला पहनाकर फिर गले लगाया

मुकेश बैस, जांजगीर-चाम्पा. जिला न्यायालय में आज नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया. आपसी मनमुटाव के चलते अलग थलग हुए 15 जोड़ो को इस लोक अदालत में समझाइश देकर आपसी राजीनामा कराया गया. फेमिली कोर्ट के जज आंनद ध्रुव की समझाइश के बाद आज 15 जोड़ों ने एकदूजे के गले मे वरमाला पहनाकर फिर से नए सिरे से अपने वैवाहिक जीवन की शुरुआत की है.

जिला न्यायालय के न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव के समक्ष सभी जोड़ों ने एक दूसरे के गले में माला डालकर मुंह मीठा कराते हुए नए दाम्पत्य जीवन की शुरुवात की है. जिला न्यायालय के न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव ने मीडिया से चर्चा करते हुए यह कहा की राष्ट्रीय लोक अदालत का जो उद्देश्य था वह पूरा हुआ. आज यहां राष्टीय लोक अदालत में 15 जोड़े फेमिली कोर्ट के जज आंनद ध्रुव की समझाइश बाद एक हो गए है.
सभी जोड़ों को उनके नए वैवाहिक जीवन की शुरुवात के लिए उन्हें बधाई दी गई है. साथ ही साथ उन्होंने यह अपील भी किया की कोई भी भविष्य में कोई भी ऐसा काम नहीं करेगा कि उन्हें फेमली कोर्ट पुनः आना पड़े. वंही एक हुए जोड़े ने भी यही कहा की घर की लड़ाई घर में ही निपटा लेना चाहिए, अपने बीच में ही समझौता कर लेना चाहिए.
Share it
Top