logo
Breaking

पांच दिन तक संघर्ष करने के बाद, दरिंदगी की शिकार मासूम हार गई जिंदगी की जंग

मनेंद्रगढ़ थानांतर्गत दुष्कर्म की शिकार पांच साल की मासूम पांच दिन बाद जिंदगी की जंग हार गई। बच्ची को बचाने का डॉक्टरों का अथक प्रयास भी काम नहीं आया और बच्ची ने गुरुवार तड़के 4 बजे बिलासपुर अपोलो अस्पताल में अंतिम सांस ली।

पांच दिन तक संघर्ष करने के बाद, दरिंदगी की शिकार मासूम हार गई जिंदगी की जंग

कोरिया। मनेंद्रगढ़ थानांतर्गत दुष्कर्म की शिकार पांच साल की मासूम पांच दिन बाद जिंदगी की जंग हार गई। बच्ची को बचाने का डॉक्टरों का अथक प्रयास भी काम नहीं आया और बच्ची ने गुरुवार तड़के 4 बजे बिलासपुर अपोलो अस्पताल में अंतिम सांस ली।

घटना के बाद से ही बच्ची की हालत काफी गंभीर हो गई थी जिसे उपचार के लिए कोरिया जिला प्रशासन द्वारा अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर भेजा गया था, जहां चिंताजनक अवस्था में मासूम को वेंटिलेटर पर रखा गया था।

उल्लेखनीय है कि शनिवार की दोपहर मनेंद्रगढ़ थाना अंतर्गत राहुल दास पिता संजय दास पनिका उम्र 19 वर्ष ने 5 साल की मासूम बच्ची के साथ काफी वहशियाना तरीके से दुष्कर्म कर बच्ची को झाड़ियों में फेंक दिया था।

आरोपी मासूम का रिश्ते में चचेरा भाई भी लगता है। घटना की जानकारी मिलने के बाद बच्ची की मां ने नगर थाना में इसकी सूचना दर्ज कराई थी। आरोपी राहुल दास को भादवि की धारा 376 (2)(झ) एवं पॉक्सो एक्ट के अंतर्गत गिरफ्तार कर लिया था।

Share it
Top