logo
Breaking

जिस आयोजन ने इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज कराया राजनांदगांव का नाम, अब उसी के नाम से हो रहा पैसों का बंदरबांट

एक दिसम्बर 2018 को विश्व एड्स दिवस के मौके पर राजनांदगांव जिले के डोंगरगांव में 5 हजार 6 सौ 67 लोगों ने रेड रिबन मोनों बनाकर एड्स से जागरूकता का संदेश दिया।

जिस आयोजन ने इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज कराया राजनांदगांव का नाम, अब उसी के नाम से हो रहा पैसों का बंदरबांट

ललित सिंह ठाकुर, राजनांदगांव: एक दिसम्बर 2018 को विश्व एड्स दिवस के मौके पर राजनांदगांव जिले के डोंगरगांव में 5 हजार 6 सौ 67 लोगों ने रेड रिबन मोनों बनाकर एड्स से जागरूकता का संदेश दिया। इस अवसर को इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया। आयोजन के दौरान इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे, कार्यक्रम के दौरान होने वाले खर्च का बिल स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को थमाया जा रहा है। वहीं कुछ बिलों का भुगतान भी किया जा चूका है। जबकि पूरा कार्यक्रम जिला प्रशासन के सहयोग और समाजसेवी संस्था के सहयोग से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। लेकिन अब कार्यक्रम में भ्रष्टाचार करते हुए बिल वाउचर लगाकर रूपए निकलने का मामला सामने आया है। जिसके बाद कलेक्टर ने इस मामले में जांच कर कार्यवाही करने की बात कही है।

राजनांदगांव जिले के डोंगरगांव में एड्स जागरूकता के लिए मानव श्रृखला के जरिए रेड रिबन मोनो बनाया गया। यहां 700 मीटर लाल कपड़े को पकड़कर 5 हजार 6 सौ 67 छात्र-छात्राओं सहित समाजिक कार्यकर्ताओं ने रेड रिबन बनाया। इस अवसर को इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज करने उनकी टीम भी मौके पर मौजूद थी। इस पल को ड्रोन कैमरे के जरिए कैद किया गया और इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड के प्रतिनिधि ने इस नए रिकार्ड की मंच से घोषणा की। इस कार्यक्रम में शामिल हुए स्कूली बच्चो और समाजसेवी संस्था के लोगो और जनप्रतिनिधियो को स्वल्पाहार और अन्य व्यवस्था निःशुल्क रूप से की गई थी।

इस आयोजन के बाद सामुदायिक सवास्थ्य विभाग डोंगरगांव में लाखों रूपए के बिल लगाकर पैसे निकलने लगी हुई है। वहीं, शिक्षा विभाग व टेंट हाउस वालों ने भी स्वास्थ्य विभाग को बिल थमाया है जबकि पूरा आयोजन का खर्च समाज सेवी संस्था और जिला प्रशासन के सहयोग किया गया था। बावजूद कार्यक्रम को एक माह से अधिक का समय होने पर भी विभागों के द्वारा बिल लगाकर पैसे का बंदरबाट किया जा रहा है।

मामले में कलेक्टर भीम सिंह ने कहा की पूरा कार्यक्रम जन सहयोग और समाज सेवी संस्था के द्वारा किया गया था यदि उस कार्यक्रम का खर्च वहन के नाम पर बिल निकला जा रहा है। इसकी सूचना मुझे मिली है, जाँच की जा रही और जाँच के दौरान दोषी अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Latest

View All

वायरल

View All

गैलरी

View All
Share it
Top