logo
Breaking

छत्तीसगढ़ समाचार : सूने मकानों में चोरी की वारदातों से परेशान थी पुलिस, लक्जरी शौक पूरा करने 2 नाबालिग देते थे घटनाओं को अंजाम

शहर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों के सुने मकान में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो शातिर नाबालिग चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबित शहर के तोरवा और सरकंडा थाना क्षेत्र में हालही में हुए चोरी की घटना के आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी रही.

छत्तीसगढ़ समाचार : सूने मकानों में चोरी की वारदातों से परेशान थी पुलिस, लक्जरी शौक पूरा करने 2 नाबालिग देते थे घटनाओं को अंजाम

संदीप करिहार, बिलासपुर. शहर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों के सुने मकान में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो शातिर नाबालिग चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबित शहर के तोरवा और सरकंडा थाना क्षेत्र में हालही में हुए चोरी की घटना के आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी रही. इस दौरान पुलिस की टीम ने 17 वर्षीय नाबालिक घुमंतू संदिग्ध बालक से चोरियों की घटना पर पूछताछ की तो नाबालिग बालक ने वारदात को अंजाम देना कबूल किया.

इस वारदात में उसका एक और नाबालिक दोस्त भी शामिल रहा. जिस पर पुलिस ने दोनों नाबालिग शातिर चोर को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. जहाँ मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट ने दो आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर जेल दाखिल कर दिया है. इस संबध में खुलासा करते हुए कोतवाली सीएसपी विश्वदीपक त्रिपाठी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों शातिर चोर नशे और लक्जरी शौक के लिए चोरी की घटना को अंजाम देते थे.

इनका मकसद सूने मकानों में घुसकर चोरी करना है. लेकिन अब घरों में पेचकश अटास कर ताला तोड़कर घर में घुसते है. लेकिन इन आरोपितों का उम्र कम होने के कारण कोई भी नाबालिगों पर संदेह नहीं करता था. लेकिन कुछ महीनों से इनकी संदिग्ध गतिविधियों पर पुलिस नज़र रख रही थी. लिहाजा इनके अपराधों का खुलासा करने में बिलासपुर पुलिस को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है.

Share it
Top