logo
Breaking

CG News: 70 से कम अंक वाले पेपर हल करने तीन नहीं.. अब मिलेंगे सिर्फ दो घंटे, गुणवत्ता लाने CBSE का नया प्रयोग

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) स्कूल आधारित आंतरिक मूल्यांकन को अधिक मजबूत बनाने की तैयारी कर रहा है। इसके तहत नौवीं से बारहवीं के प्रश्नपत्रों में कुछ बदलाव की तैयारी है।

CG News: 70 से कम अंक वाले पेपर हल करने तीन नहीं.. अब मिलेंगे सिर्फ दो घंटे, गुणवत्ता लाने CBSE का नया प्रयोग

रायपुर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) स्कूल आधारित आंतरिक मूल्यांकन को अधिक मजबूत बनाने की तैयारी कर रहा है। इसके तहत नौवीं से बारहवीं के प्रश्नपत्रों में कुछ बदलाव की तैयारी है।

इसके अनुसार ग्याहरवीं-बारहवीं में 70 अंक से कम वाले पेपर हल करने के लिए दो घंटे ही मिलेंगे। अब तक इसके लिए तीन घंटे का समय मिलता रहा है। नए बदलावों के क्रम में प्रश्नपत्रों में वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के साथ-साथ बहुविकल्पीय प्रश्न भी शामिल होंगे।

बोर्ड ने वर्ष 2019-20 के लिए कुछ बदलावों को मूल्यांकन और परीक्षा अभ्यास क लिए प्रस्तावित किया है। CBSE के अनुसार मूल्यांकन प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए CBSE ने विभिन्न हितधाराकों व शिक्षकों से परामर्श लिया था, जिसमें बोर्ड को तमाम सुझाव मिले थे। इसके बाद हुए बदलाव में नौवीं व दसवीं के आंतरिक मूल्यांकन के तहत वर्तमान में पेन पेपर टेस्ट के लिए 10 अंकों की व्यवस्था है।

नेगा पोर्टफोलियों
आंतरिक मूल्यांकन पाचं अकों का होगा। कई प्रकार के मूल्यांकन इसमें शामिल होंगे। जिसमें क्विज, ओरल अैस्ट, विजुअल एक्सप्रेशन का सहारा लिया जाएगा। इसी तरह से नोटबुक के लिए पांच अंक मिलते हैं। इसके तहत अब पेार्टफोलियो बनेगा, जिसमें कक्षा कार्य, स्वयं मूल्यांकन, छात्र का विषय में प्रदर्शन को शामिल किया जाएगा। छात्रों के प्रदर्शन के आधार पर इसमें अंक दिए जाएंगे। वर्ष की शुरुआत में ही छात्रों को इस संदर्भ में जानकारी दी जाएगी।
बस्तर में बने दो नकल प्रकरण
शुक्रवार को छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के अंतर्गत बारहवीं कक्षा की अर्थशास्त्र और जीव विज्ञान विषय की परीक्षा हुई। 1730 छात्र इस परीक्षा में अनुपस्थित रहे। अस्तर जिले को छोड़कर अन्य सभी जिलों में दो नकल प्रकरण बने। इसी तरह माशिम के हेल्पलाइन नंबर में आगामी संस्कृत विषय की परीक्षा के लिए 50 छात्रों के फोन कॉल आए।
Share it
Top